Home » इंडिया » Kashmir: Journalist shujaat bukhari murder police released suspects photograph and cctv
 

राइजिंग कश्मीर के एडिटर सुजात बुखारी की हत्या में लश्कर का हाथ, पुलिस ने जारी किए सीसीटीवी फुटेज!

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 June 2018, 9:16 IST

गुरुवार को श्रीनगर में राइजिंग कश्‍मीर अखबार के संपादक शुजात बुखारी की गोली मारकर हत्‍या कर दी गई. इस हमले में बुखारी की सुरक्षा में तैनात 2 जवानों की भी मौत हो गई. पुलिस ने बुखारी के हत्यारों का सीसीटीवी फुटेज जारी किया है. इसमें तीन संदिग्ध बाइक सवार दिख रहे हैं.

फुटेज के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है और हमलावरों की पहचान के लिए स्थानीय लोगों की मदद ली जा रही है. पुलिस ने हमलवारों से जुड़ी जानकारी के लिए मोबाइल नंबर भी जारी किया है. पुलिस इस सीसीटीवी फुटेज की जांच कर हमलावरों तक पहुंचने की कोशिश में जुटी है. पुलिस की जारी दो तस्वीरों में तीन लोग बाइक पर जाते दिख रहे हैं. इन्होंने अपने चेहरे ढके हुए हैं.

बता दें कि गुरुवार की शाम अखबार राइजिंग इंडिया के संपादक शुजात बुखारी की गोली मारकर हत्या कर दी गई. शुजात लाल चौक के पास प्रेस एन्क्लेव स्थित अपने ऑफिस से इफ्तार पार्टी के लिए निकल रहे थे. इसी समय मोटरसाइकिल सवार आतंकियों ने उन्हें घेरकर गोलियों से छलनी कर दिया. 

बता दें कि शुजात बुखारी पर पहले भी कई बार जानलेवा हमले हो चुके हैं. जुलाई 1996 में आतंकियों ने उन्हें 7 घंटे तक अनंतनाग में बंधक बनाकर रखा था. इसके बाद साल 2000 में भी उन्हें जान से मारने की धमकी मिली थी. जिसके बाद बुखारी को पुलिस सुरक्षा दी गई थी. साल 2006 में भी बुखारी पर जानलेवा हमला हुआ था.

पढ़ें- कश्मीर: अगवा किए जवान को आतंकियों ने गोलियों से किया छलनी, शव के साथ की बर्बरता

पिछले साल भी पाकिस्तानी आतंकियों से उन्हें जान से मारने की धमकी मिली थी. इसके बाद उन्हें X श्रेणी की सुरक्षा दी गई थी. शुजात बुखारी भारत-पाक शांति वार्ता और कश्मीर विवाद को सुलझाने के लिए लगातार काम कर रहे थे. उनके अखबार 'राइजिंग कश्मीर' को घाटी की आवाज कहा जाता था. वह हमेशा कहा करते थे कि बंदूक का डर दिखाकर उनकी कलम को शांत नहीं कराया जा सकता.

First published: 15 June 2018, 9:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी