Home » इंडिया » Kashmir shutdown detention of woman separatist Asiya Andrabi by NIA 3 civilians dead Burhan vani
 

कश्मीर: जानिए कौन हैं अासिया अंद्राबी जिनकी गिरफ्तारी के बाद फिर सुलग उठी है घाटी

आदित्य साहू | Updated on: 7 July 2018, 15:51 IST

कश्मीर घाटी एक बार फिर सुलग उठी है. घाटी में इंटरनेट बंद कर दिया गया है. पत्थरबाजों और सेना में झड़प के चलते पूरा कश्मीर जल रहा है. कुलगाम जिले के खुदवाणी इलाके में शनिवार की सुबह सेना और पत्थरबाजों की झड़प में तीन नागरिकों की मौत हो गई. मृतकों में एक नाबालिग लड़की भी शामिल है. 

दरअसल, दिल्ली की एक स्थानीय अदालत ने 6 जुलाई को कश्मीर की एक महिला को गिरफतार करने का आदेश दे दिया था. उन महिला का नाम आसिया अंद्राबी है. उनके अलावा दो अन्य को कथित तौर पर देशद्रोह करने के मामले में शुक्रवार (6 जुलाई) को 10 दिन की एनआईए हिरासत में भेजा गया है. कहा जा रहा है कि इसके विरोध में ही अलगाववादियों ने घाटी बंद का ऐलान किया था. इसी बीच सेना और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प हुई जिसमें तीन नागरिकों की मौत हो गई और कई लोग घायल हो गए. 

दरअसल. एनआईए ने पटियाला हाउस कोर्ट की जिला व सत्र न्यायाधीश पूनम बांबा के समक्ष अंद्राबी, सोफी फहमिदा और नाहिदा नसरीन को पेश कर 15 दिन की रिमांड मांगी थी. एनआईए ने कहा था कि आसिया प्रतिबंधित संगठन दुख्तरान-ए-मिल्लत की मुखिया है. वह अब तक की जांच में देश के खिलाफ युद्ध छेड़ने की साजिश में शामिल पाई गई हैं. एनआईए ने कोर्ट को बताया कि तीनों से बड़ी संख्या में ऐसे वीडियो और फोटो बरामद हुए हैं, जिनसे धर्म के आधार पर अशांति व अलगाव फैलाने की साजिश का खुलासा होता है.

आप भी जानिए कौन हैं आसिया अंद्राबी

आसिया अंद्राबी जम्मू-कश्मीर की अलगाववादी नेता हैं. वह आए दिन घाटी में पाकिस्तानी झंडा लहराकर आजादी की मांग करती रहती हैं. इसी साल मार्च में उन्होंने पाकिस्तान का झंडा लहराकर आजादी की मांग की थी. पाकिस्तान का झंडा लहराते हुए आसिया ने कहा था कि कश्मीर पाकिस्तान का हिस्सा है. उन्होंने कहा कि भारत उसे अपना बनाने की कोशिश कर रहा है.

आसिया अंद्राबी दुखरतान-ए-मिलत की संस्थापक नेता हैं. यह इस्लामी समूह कश्मीर घाटी में अलगाववादी सभी पार्टियों हुर्रियत सम्मेलन का हिस्सा है. संगठन का मुख्य उद्देश्य भारत से कश्मीर के अलग होने के लिए काम करना है.

पढ़ें- जम्मू-कश्मीर: अलगाववादी आसिया अंद्राबी की 'नापाक' हरकत, झंडा फहराकर PAK डे का मनाया जश्न

आसिया राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के पोस्टर पर नजर आ चुकी हैं. पहले भी वह पाकिस्तान के झंडे लहरा चुकी हैं. साल 2017 के अगस्त महीने में घाटी में पाकिस्तान का झंडा लहराते हुए आसिया पाक का राष्ट्रगान भी गा चुकी हैं. इस मामले पर उन पर कई मुकदमे दर्ज हैं. उन्होंने साल 2015 में 14 अगस्त को पहली बार पाकिस्तान का झंडा फहराया था, जिसके बाद उन्हें हिरासत में लिया गया था.

First published: 7 July 2018, 15:47 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी