Home » इंडिया » Kathua Case: Jitendra Singh says If the state government gives us reference we will handover the case to CBI today
 

कठुआ गैंगरेप केस: केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह बोले- CBI जांच से कोई दिक्कत नहीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 April 2018, 14:38 IST

कठुआ गैंगरेप एवं हत्या मामले को लेकर मोदी सरकार सीबीआई से जांच कराने को तैयार है. पीएमओ में राज्यमंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने एक बयान जारी कर कहा है कि अगर राज्य सरकार आज सिफारिश करती है तो हम आज कठुआ केस को जांच के लिए सीबीआई को सौंप देंगे.

उन्होंने कहा कि दूसरा तरीका यह है कि अदालतों के माध्यम से जांच हो और मेरी जानकारी के अनुसार इस मामले में एक याचिका भी दायर की गई है. इससे पहले भी जितेंद्र सिंह ने फरवरी में कहा था, "अगर लोगों को लगता है कि उन्हें पुलिस और क्राइम ब्रांच की जांच पर भरोसा नहीं है और केस की पड़ताल सीबीआई से करानी चाहिए, तो मुझे नहीं लगता इसमें कोई समस्या है. अगर राज्य सरकार ऐसा करने के लिए केंद्र से कहती है, तो हम कार्रवाई करेंगे."

इससे पहले कठुआ गैंगरेप मामले पर जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि मासूम से रेप करने वालों के खिलाफ कड़ा कानून लाएंगे. महबूबा ने कहा कि मासूम से रेप के दोषी को फांसी की सजा का कानून लाएंगे. उन्होंने कहा था कि रेप और हत्या के मामले में इंसाफ के रास्ते में कोई बाधा नहीं आने दी जाएगी.

महबूबा ने ट्वीट कर कहा था, "कुछ लोगों के एक समूह के गैर-जिम्मेदाराना कार्यों और बयानों से कानून के रास्ते में किसी तरह की अड़चन नहीं आएगी. इस मामले पर ठोस कार्रवाई की जा रही है. तेजी से जांच आगे बढ़ रही है और इंसाफ किया जाएगा."

पढ़ें- 50 शिक्षकों ने बच्चों के भविष्य के लिए खपा दी ज़िन्दगी, अब PM मोदी से मांग रहे इच्छामृत्यु

संयुक्त राष्ट्र ने भी इस घटना को भयावह करार दिया था. संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने सामूहिक दुष्कर्म और हत्या को 'भयावह' बताते हुए दोषियों को कानून के दायरे में लाए जाने की उम्मीद जाहिर की थी. गुटेरेस के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने शुक्रवार को संवाददाताओं को बताया था कि उन्होंने घुमंतू बकरवाल समुदाय की बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म की खबरें देखी हैं. उन्होंने कहा था कि हमें आशा है कि प्रशासन इस जघन्य अपराध के लिए जिम्मेदार दोषियों को कानून के दायरे में लाएगा.

First published: 17 April 2018, 14:38 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी