Home » इंडिया » Kathua Gang rape: accused sanjhi ram admitted he wanted to save his son and tp spread fear on bakarwal muslim community he murdered the girl
 

कठुआ गैंगरेप: सांझी राम ने बेटे को बचाने के साथ इस मंसूबे को पूरा करने के लिए की पीड़िता की हत्या

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 April 2018, 10:59 IST
(file photo)

जम्मू कश्मीर के कठुआ में 8 साल की मासूम के साथ रेप और हत्या के मामले में मुख्या आरोपी सांझी राम ने जुर्म कबूल कर लिया है. आरोपी सांझी राम ने पुलिस पूछताछ में कई अहम जानकारियां दी है. इसी के साथ सांझी राम ने बताया है कि उसको बच्ची का अपहरण हो जाने के चार दिन बाद इसके बारे में पता चला.

जब उसको इसमें अपने बेटे के शामिल होने के बारे में पता चला तो उसने मासूम बच्ची की हत्या करने की साजिश रची थी. साथ ही उसने क्राइम ब्रांच की टीम को बताया कि उसने अपने बेटे को बचाने और बकरवाल समुदाय में डर पैदा करने के लिए बच्ची की हत्या की थी.

ये भी पढ़ें- कठुआ गैंगरेप: भीड़ को पीड़िता के समुदाय के खिलाफ भड़का रहा आरोपियों का वकील, वीडियो आया सामने

सांजी राम ने बताया कि जब उसे पता चला कि उसका लड़का भी घुमंतू बकरवाल समुदाय की लड़की के साथ रेप में शामिल है, तब उसने अपने बेटे को बचाने और घुमंतू बकरवाल समुदाय में डर पैदा करने के लिए बच्ची की हत्या कर दी.

जांचकर्ताओं के सामने हुए खुलासे के अनुसार, एक अन्य नाबालिग आरोपी यानी सांजी राम के भतीजे ने बच्ची का अपहरण करने के दिन 10 जनवरी को पहली बार उसके साथ रेप किया था. क्राइम ब्रांच के सूत्र ने बताया कि भतीजे ने सांजी राम को बताया कि उसके बेटे विशाल ने भी पीड़िता से रेप किया है. एक तो वह घुमंतू बकरवाल समुदाय को गांव से बाहर खदेड़ना चाहता था और उसे अपने बेटे को भी जेल जाने से बचाना था. सबूत मिटने के लिए उसने बच्ची की हत्या कर दी.

जांचकर्ताओं के मुताबिक, सांजी राम ने पीड़िता का शव ठिकाने लगाने के लिए अपने एक मित्र से कार भी मंगाई थी. जब उसके मित्र ने कार लाने में असमर्थता जताई तो सांजी राम ने अपने बेटे और अन्य आरोपियों से शव को मंदिर से दूर कहीं फेंक देने के लिए कहा.

इतना ही नहीं बच्ची का शव मिलने के बाद सबूत मिटाने के लिए दो पुलिसकर्मियों को चार लाख रुपये की रिश्वत भी दी. क्राइम ब्रांच ने रिश्वत लेने वाले दोनों पुलिसकर्मियों को भी अभियुक्त बनाया है. खुलासे में ये भी मालूम चला है कि मासूम को भांग पिला कर नशे में रखा जाता था.

First published: 28 April 2018, 10:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी