Home » इंडिया » Kathua Rape Case: Delhi High Court says who discloses rape victim's identity can be imprisoned for 6 months
 

कठुआ गैंगरेप पर हाईकोर्ट- मीडिया चैनलों पर 10 लाख जुर्माना, हो सकती है 6 महीने की जेल

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 April 2018, 12:37 IST

दिल्ली हाईकोर्ट ने कठुआ गैंगरेप पीड़िता का नाम और पहचान उजागर करने वाले मीडिया हाउसों को नोटिस जारी किया था. इसी मामले पर अब हाईकोर्ट ने उन मीडिया हाउसों को 10-10 लाख रुपए जुर्माना भरने को कहा है. हाईकोर्ट ने कहा कि जिन लोगों को नोटिस जारी किया गया था वह 10-10 लाख रुपए कोर्ट में जमा कराएं. कोर्ट ने कहा कि यह पैसा जम्मू-कश्मीर में पीड़ित लोगों के लिए बने फंड में हस्तांतरित किया जाएगा.

इसके अलावा कोर्ट ने एक दूसरे आदेश में कहा कि जिन लोगों ने भी कठुआ पीड़ित का पहचान उजागर किया है उन्हें 6 महीने की सजा हो सकती है. कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई के लिए अगली तारीख 25 अप्रैल निर्धारित की है.

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के कठुआ इलाके में 8 साल की बच्ची के साथ वीभत्स गैंगरेप के बाद उसकी हत्या कर दी गई थी. इसके बाद कई मीडिया चैनलों ने बच्ची की फोटो के साथ उसके नाम से खबरेें चलाई थीं. इसको लेकर दिल्ली हाईकोर्ट ने कुुछ मीडिया चैनलों को नोटिस जारी किया था. हाईकोर्ट ने इसे अंडर सेक्शन 228ए-ई का उल्लंघन माना था. 

 

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट के वकीलों के समूह ने कठुआ रेप और मर्डर केस में रुकावट पर चीफ जस्टिस से संज्ञान लेने की गुहार लगाई थी. सुप्रीम कोर्ट में समूह ने कहा कि वहां केस की सुनवाई नहीं हो पा रही है. सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगाते हुए वकीलों ने कहा कि कई घंटे तक चार्जशीट दाखिल नहीं होने दी गई.

पढ़ें- मक्का मस्जिद ब्लास्ट केस: NIA के वकील पर उठ रहे सवाल, ABVP से रहा है कनेक्शन

वकीलों ने कहा कि महिला वकील को भी धमकी दी जा रही है. हालांकि, वकीलों के आग्रह पर चीफ जस्टिस ने कहा कि हमारे पास फिलहाल इस मामले पर कोई रिकॉर्ड नहीं है. आप रिकॉर्ड पर कुछ दाखिल कीजिए, फिर हम केस को देखेंगे.

First published: 18 April 2018, 12:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी