Home » इंडिया » Kathua-Unnao Gangrape: over 600 academicians from across globe write Sharp Letter to PM Modi
 

कठुआ-उन्नाव गैंगरेप: PM मोदी की चुप्पी से खफा दुनियाभर के 600 शिक्षाविदों ने लिखा 'नाराजगी पत्र'

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 April 2018, 11:39 IST

कठुआ और उन्नाव गैंगरेप केस मामले में पीएम मोदी की चुप्पी से खफा दुनियाभर के 600 से अधिक शिक्षाविदों और विद्वानों ने भारतीय प्रधानमंत्री को खुला पत्र लिखकर अपनी नाराजगी जताई है. इन विद्वानों में न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय, ब्राउन विश्वविद्यालय, हार्वर्ड एवं कोलंबिया विश्वविद्यालय एवं विभिन्न आईआईटी के शिक्षाविद और विद्वान शामिल हैं. इन्होंने पीएम मोदी को लिखे पत्र पर अपने हस्ताक्षर किए हैं.

इन शिक्षाविदों ने प्रधानमंत्री मोदी को खुला पत्र लिखकर कठुआ और उन्नाव बलात्कार मामलों पर अपनी नाराजगी का इजहार करते हुए उन पर देश में बने गंभीर हालात पर चुप्पी साधे रहने का आरोप लगाया. पत्र में प्रधानमंत्री मोदी को संबोधित करते हुए लिखा गया है कि वे कठुआ और उन्नाव एवं उनके बाद की घटनाओं पर अपने गहरे गुस्से और पीड़ा का इजहार करना चाहते हैं.

पत्र में आगे लिखा है, "हमने देखा है कि देश में बने गंभीर हालत पर और सत्तारूढ़ों के हिंसा से जुड़ाव के निर्विवाद संबंधों को लेकर आपने लंबी चुप्पी साध रखी है."

पढ़ें- राष्ट्रपति कोविंद ने POCSO एक्ट में बदलाव को दी मंजूरी, मासूम से रेप पर मिलेगी फांसी

बता दें कि एक दिन पहले (21 अप्रैल) ही मोदी सरकार ने कठुआ और सूरत में नाबालिग बच्चियों के बलात्कार और हत्या एवं उन्नाव में एक लड़की से बलात्कार को लेकर देशभर में आक्रोश के बीच 12 वर्ष और उससे कम उम्र की बच्चियों से बलात्कार के मामले में दोषी पाये जाने पर मृत्युदंड सहित कड़े दंड के प्रावधान वाले अध्यादेश को मंजूरी दी है.

First published: 22 April 2018, 11:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी