Home » इंडिया » Kejariwal says after return from Vipashyana, Ghee can,t take out from straigth finger Slide 2
 

विपश्यना से लौटकर आक्रामक हुए केजरीवाल, बोले सीधी उंगली से घी नहीं निकलता

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 August 2016, 18:09 IST
(फाइल फोटो )

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल विपश्यना कैंप से लौटने के बाद शनिवार को नजफगढ़ के खैर डाबर गांव में पहली बार जनता से मुखातिब हुए. इस दौरान केजरीवाल ने पीएम मोदी का नाम लिए बिना उन पर निशाना साधते हुए कहा, जनता के काम करने के लिए उंगली टेढ़ी करनी पड़ती है. ऊपर बड़े-बड़े गुंडे बैठे हैं, जहां सीधी उंगली से घी नहीं निकलेगा.

दरअसल, केजरीवाल दिल्ली के पहले मुख्यमंत्री रहे चौधरी ब्रह्म प्रकाश की प्रतिमा का अनावरण करने के लिए यहां पहुंचे थे. जहां उन्होंने पहली बार चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि अगर सीधी उंगली से घी नहीं निकलता तो उंगली टेढ़ी करनी पड़ती है, क्योंकि ऊपर बड़े-बड़े गुंडे बैठे हैं, जहां सीधी उंगली से घी नहीं निकलेगा.

नजफगढ़ के खैर डाबर गांव में लोगों को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने हाई कोर्ट से उपराज्यपाल और दिल्ली सरकार के बीच अधिकारों की लड़ाई लड़ने के मामले पर कहा, 'जब हरियाणा में वोटर्स की कीमत कम नहीं है, तो फिर दिल्ली में वोटर्स की कीमत कम कैसे हो सकती है? दिल्ली तो देश की राजधानी है.' केजरीवाल ने कहा कि जब हरियाणा में जनता द्वारा चुनी हुई सरकार जनता के लिए फैसले ले सकती है, तो ऐसा दिल्ली में क्यों नहीं हो सकता.

इस दौरान केजरीवाल ने एक बार फिर दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने का मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा कि ये आम आदमी की मांग है और इसे पूरा किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि दिल्ली के पहले मुख्यमंत्री ब्रह्म प्रकाश भी दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाना चाहते थे और हमारी भी यही मांग है.

गौरतलब है कि धर्मशाला में 10 दिन की विपश्यना लौटे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल आज पहली बार किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में शामिल हुए.

First published: 13 August 2016, 18:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी