Home » इंडिया » Kejriwal takes on Majithia in SAD stronghold, Akalis launch counterattack
 

मजीठिया के बहाने फिर से पंजाब में केजरीवाल ने उछाला ड्रग्स का मुद्दा

राजीव खन्ना | Updated on: 30 July 2016, 7:43 IST
QUICK PILL
  • आम आदमी पार्टी ने एक बार फिर से ड्रग्स की समस्या उठाकर अकालियों की दुखती रग पर हाथ रख दिया है. दरअसल आप ने बिक्रम सिंह मजीठिया पर फिर से हमला बोला है. मजीठिया पंजाब सरकार में राजस्व मंत्री है.
  • वहीं जवाबी पलटवार करते हुए शिरोमणि अकाली दल ने आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल को कुंठित करार दिया. 

आम आदमी पार्टी अब विधानसभा चुनाव की लड़ाई को अकालियों के गढ़ में खींचकर ले गई है. आम आदमी पार्टी ने एक बार फिर से ड्रग्स की समस्या उठाकर अकालियों की दुखती रग पर हाथ रख दिया है. अकाली दल ने इस बार भी आम आदमी पार्टी को करार जवाब दिया है. दरअसल आप ने बिक्रम सिंह मजीठिया पर फिर से हमला बोला है. मजीठिया पंजाब सरकार में राजस्व मंत्री है.

मजीठिया की तरफ से दायर मानहानि के  मामले में अरविंद केजरीवाल अमृतसर में पेश हुए और इस दौरान उनके साथ पंजाब में आम आदमी पार्टी के सुच्चा सिंह छोटेपुर, पंजाब के प्रभारी संजय सिंह और संगरूर से पार्टी के सांसद भगवंत मान भी उनके साथ थे. 

मजीठिया ने केजरीवाल और संजय सिंह के खिलाफ मानहानि का मामला दायर कर रखा है.

दोनों को अदालत से जमानत मिल गई और मामले की अगली सुनवाई 15 अक्टूबर को मुकर्रर की गई है. केजरीवाल का यह दौरा वैसे नेता के तौर पर रहा जिन्होंने इसका इस्तेेमाल अपने प्रतिद्वंद्वी पर हमला करने के लिए किया. इस बार उन्होंने यह कहने में देर नहीं लगाई कि अगर मजीठिया ने मुझे अकाली सरकार के बचे हुए छह महीने के कार्यकाल में गिरफ्तार नहीं किया तो मैं छह महीने बाद उन्हें गिरफ्तार होना पड़ेगा.

केजरीवाल ने राज्य में ड्रग्स की बड़ी समस्या का जिक्र किया. आप समर्थकों की तरफ से लगाए गए पोस्टर का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि मजीठिया ड्रग्स लॉर्ड हैं. उन्होंने कहा कि पंजाब के लोगों को अकालियों को जड़ से उखाड़ने का मन बना लिया है.

मजीठिया ने केजरीवाल और संजय सिंह के खिलाफ मानहानि का मामला दायर कर रखा है.

विश्लेेषकों का कहना है कि पूरे पंजाब में ऐसे पोस्टर लगाए गए हैं और यह आप की रणनीति का नतीजा है. उन्होंने कहा, 'पार्टी उस भय को तोेड़ना चाहती है कि अगर कोई अकाली के खिलाफ बोलेगा तो उसे जेल जाना पड़ सकता है.'

अमृतसर का माहौल पूरी तरह से तनावपूर्ण रहा. दोनों ही दलों ने अपनी तरफ से ताकत प्रदर्शन में कोई कमी नहीं छोड़ी. आप के समर्थकों ने अपने नेता को कोर्ट तक सुरक्षा घेरा दिया तो वहीं अकाली के समर्थक रंजीत एवेन्यू के बाहर जमा हुए.

केजरीवाल के लगातार झूठ बोलने का हवाला देते हुए मजीठिया ने कहा, 'यह घमंडी नेता के लिए आज बेल कल जेल के मामले की तरह है. वह भाग सकते हैं लेकिन न्याय की जद में आने से बच नहीं सकते.'

मजीठिया ने आप की तुलना अली बाबा और चालीस चोर से की. उन्होंने कहा, 'केजरीवाल वैसी टीम के नेता है जो छेड़छाड़ करने वाले, धमकाने वाले और राष्ट्रद्रोहियों से भरा हुआ है.' भगवंत मान ने हाल ही में एक वीडियो जारी किया था जिसमें उन्होंने संसद के सुरक्षा मानकों का धज्जियां उड़ाई है.

वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने कहा कि केजरीवाल कुंठित व्यक्ति है. उन्होंने कहा, 'यह नाटकबाजी की राजनीति है. उनका बरताव मुख्यमंत्री पद की गरिमा के मुताबिक नहीं है.'

बाद में केजरीवाल ने सुखेरा बोदला गांव के दलित परिवार का दौरा किया. इन परिवार वालों को कथित तौर पर पुलिसिया बर्बरता का सामना करना पड़ा है. केजरीवाल ने कहा, 'बीजेपी और शिरोमणि अकाली दल दलितों के खिलाफ हैं. सुखबीर को इस परिवार को मुआवजा देते हुए जिम्मेदार पुलिस वालों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए. इस परिवार को इसलिए निशाना बनाया गया क्योंकि उन्होंने स्थानीय ड्रग माफिया का विरोध किया था.'

First published: 30 July 2016, 7:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी