Home » इंडिया » Government should be for the people but in Punjab it is all about one family: Navjot Sidhu
 

नवजोत सिद्धू: केजरीवाल बोले चुनाव मत लड़ो पत्नी को मंत्री बना देंगे, मैंने कहा- 'सत श्री अकाल'

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:47 IST

पंजाब में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले नवजोत सिंह सिद्धू ने आवाज-ए-पंजाब के नाम से नया मोर्चा खड़ा किया है. चंडीगढ़ में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सिद्धू पंजाब की प्रकाश सिंह बादल सरकार पर जमकर बरसे. इसके अलावा सिद्धू ने आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल पर भी निशाना साधा.

सिद्धू ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, "हमारी लड़ाई उस सिस्टम के खिलाफ है, जिसने पंजाब को बर्बाद किया.  आवज-ए-पंजाब एक इंकलाबी आवाज है.आवाज-ए-पंजाब एक जैसी सोच वालों का मंच है. यह कोई पार्टी नहीं है. इस मोर्चे को काफी तारीफ मिल रही है. आगे की दिशा कुछ दिन बाद तय होगी."

सिद्धू ने कहा, "भारत में एक परंपरा है कि अच्छे लोगों को केवल डेकोरेशन पीस बना दिया जाता है और उन्हें केवल प्रचार के लिए इस्तेमाल किया जाता है. 200 रैलियां की और उसके बाद सरकार बनी, लेकिन इसके बाद मुझे मंच से उतार दिया गया. आप भी मेरा इस्तेमाल डेकोरेशन पीस की तरह करना चाहती थी."

बादल-केजरीवाल पर बरसे सिद्धू

सिद्धू ने कहा, "कोई पार्टी अच्छी या बुरी नहीं होती है, उसे चलाने वाले अच्छे-बुरे होते हैं. राज्यसभा से मेरे इस्तीफे का अरविंद केजरीवाल से कोई लेना-देना नहीं है. जब मैं हामिद अंसारी साहब के पास गया, तो मेरे इस्तीफे का फैसला सुनकर उन्हें झटका लगा. उन्होंने कहा कि मैंने ऐसा करते पहले किसी को नहीं देखा."

बादल सरकार पर निशाना साधते हुए सिद्धू ने कहा, "सरकार लोगों के लिए होती है, लेकिन पंजाब में यह सिर्फ एक परिवार तक सीमित है."

सिद्धू ने कहा, "पंजाब में अब भी काले बादल मंडरा रहे हैं. पंजाब के लोग कहते हैं कि काले बादल छंट के अब सूरज निकलना चाहिए."

'केजरीवाल ने कहा चुनाव मत लड़ो'

नवजोत सिद्धू ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान दिल्ली के सीएम और आप संयोजक अरविंद केजरीवाल पर जमकर निशाना साधा. दरअसल सिद्धू के राज्यसभा से इस्तीफा देने के बाद उनके आप में जाने की संभावनाएं बढ़ गई थीं.

सिद्धू ने कहा, "अरविंद केजरीवाल के पास मुझे देने के लिए कुछ नहीं है, जो मैं उनसे मांगूंगा. केजरीवाल सोचते हैं कि सिर्फ एक वही एक ईमानदार हैं. उनके नाम बड़े हैं, लेकिन दर्शन छोटे हैं."

सिद्धू ने साथ ही कहा कि केजरीवाल ने उन्हें चुनाव लड़ने के लिए मना किया था. सिद्धू ने कहा, "केजरीवाल जी ने मुझसे मुलाकात के बारे में एक ट्वीट किया था, लेकिन उन्होंने आधा सच ही बोला. केजरीवाल जी ने मुझसे कहा कि चुनाव मत लड़ो, अपनी पत्नी से चुनाव लड़ने के लिए कहिए. हम उन्हें मंत्री बना देंगे."

सिद्धू ने कहा, "मैंने उन्हें जवाब दिया. 'सत श्री अकाल'. केजरीवाल केवल उनकी हां में हां मिलाने वाला आदमी चाहते हैं. केजरीवाल का ट्वीट देखिए. उन्होंने कहा कि सिद्धू बिना किसी शर्त के साथ आए. फिर शर्तें किसकी तरफ से आ गईं?"

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पूर्व हॉकी खिलाड़ी और अकाली दल से निलंबित विधायक परगट सिंह भी मौजूद थे. सिद्धू, परगट सिंह और लुधियाना के बैंस बंधुओं (समरजीत सिंह बैंस और बलविंदर सिंह बैंस) ने हाल ही में आवाज-ए-पंजाब नाम का मोर्चा बनाया है. बैंस बंधु निर्दलीय विधायक हैं. पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं.

First published: 8 September 2016, 4:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी