Home » इंडिया » Kerala Floods: Death toll mount to 324, PM modi in kerela NDRF, Army and Airforce continues to rescue peole
 

Video: केरल की बाढ़ में जिंदगी से जूझते लोगों को जान पर खेल कर बचाते सेना और NDRF के जवान

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 August 2018, 9:17 IST

केरल में भारी बारिश और बाढ़ ने कई राज्यों को पूरी तरह से तबाह कर दिया है. केरल में बारिश का इतना कहर रहा कि कोच्चि एयरपोर्ट तक में पानी भर गया. पहले इसे 15 अगस्त तक के लिए बंद किया गया था लेकिन हालात बदतर होने की वजह से कोच्चि एयरपोर्ट को 26 अगस्त तक के लिए बंद कर दिया गया. एर्नाकुलम का इडमलयार डैम खतरे के निशान के ऊपर बह रहा है.

राज्य के निचली इलाकों में पूरी तरह से पानी भर गया जिस कारण से पूरे इलाकों को खाली कराना पड़ा. इस प्राकृतिक आपदा से करीब 20 हजार लोगों को घर से बेघर होना पड़ा.

केरल: बारिश के कहर से बचाने के लिए सेना ने बनाया 35 फीट लम्बा पुल, NDRF ने 926 लोगों को बचाया

राहत कार्यों में एनडीआरफ के साथ वायु सेना और नौसेना भी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में लोगों को बचाने में जुटी हुई है. सेना ने हाल ही में 35 फ़ीट लम्बा पुल बनाकर निचली इलाकों से निकाला तो हेलीकॉप्टर की मदद से भी सेना लोगों को बचाएं में जुटी है.

केरल में 14 जिलों में 2.11 लाख लोग प्रभावित हुए हैं और 32,500 हेक्टेयर फसलों का नुक्सान हुआ. असम में बारिश और बाढ़ से 11.45 लाख लोग प्रभावित हुए. जिसने 27,600 हेक्टेयर में फसल प्रभावित की. पश्चिम बंगाल में 2.27 लाख लोग प्रभावित हुए हैं और 48,550 हेक्टेयर में फसलों की क्षति हुई.

राज्य में स्थिति का जायजा लेनी के लिए प्रधानमंत्री मोदी केरल पहुंचे. गौरतलब है कि केरल के मुख्यमंत्री विजयन पिनाराई ने केंद्र सरकार से मदद की गुहार लगाई थी. केरल में बाढ़ ने बुरी तरह से तबाही मचाई है. केरल में पिछले 50 साल के इतिहास में सबसे बड़ी तबाही मचाई है. हालात इतने खराब हो चुके हैं कि केरल के अलग-अलग हिस्सों में 24 से ज्यादा बांधों को खोलना पड़ा.

राज्य में हुई तबाही के मद्देनजर मुख्यमंत्री पिनाराई ने केंद्र सरकार से 400 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद की मांग की.

First published: 18 August 2018, 9:17 IST
 
अगली कहानी