Home » इंडिया » Kerala Government signs ordinance making it mandatory for schools to teach Malayalam
 

केरल के स्कूलों में 'गुरुजी' को मलयालम पढ़ानी ही पड़ेगी

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 April 2017, 11:44 IST

केरल के सभी स्कूलों में अब गुरुजी को मलयालम भाषा पढ़ानी ही पड़ेगी. जी हां मलयालम भाषा को अनिवार्य करने के लिए राज्य सरकार ने एक अध्यादेश पर दस्तखत कर दिए हैं. जिसके बाद केरल के सभी स्कूलों में मलयालम भाषा को पढ़ाना जरूरी हो गया है. 

इस नियम का पालन न करने पर अध्यादेश में सख्त प्रावधान किए गए हैं. जो भी स्कूल या शिक्षक इस अध्यादेश का उल्लंघन करेंगे उनको कानूनी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा. राजधानी तिरुवनंतपुरम में मुख्यमंत्री पी विजयन की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक के दौरान इस अध्यादेश पर मुहर लगी है. 

कई स्कूलों में मलयालम पर रोक की शिकायत

यह अध्यादेश सभी सरकारी स्कूलों, सहायता प्राप्त स्कूलों, बिना सहायता वाले स्कूलों के साथ ही स्ववित्तपोषित शैक्षणिक संस्थानों पर भी लागू होगा. सीबीएसई के साथ ही आईसीएसई सिलेबस वाले बारहवीं तक के स्कूलों में अध्यादेश को तामील किया गया है.

बताया जा रहा है कि राज्य सरकार को लगातार शिकायतें मिल रही थीं कि राज्य में कई स्कूल ऐसे हैं, जहां मलयालम बोलने और पढ़ाने पर रोक लगी हुई है. विजयन कैबिनेट की बैठक में सोलर कमीशन का कार्यकाल भी तीन महीने के लिए बढ़ा दिया गया है. आयोग का कार्यकाल 28 अप्रैल को खत्म हो रहा है.  

First published: 11 April 2017, 11:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी