Home » इंडिया » Kerala govt announces 'fat tax' on pizza, burger and other junk food
 

केरल की लेफ्ट सरकार ने जंक फूड पर लगाया 14.5% फैट टैक्स

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 6:44 IST
(पत्रिका)

अगली बार जब भी आप केरल में हों और पिज्जा या बर्गर का ऑर्डर दें, तो इस खबर के बारे में जरूर सोचें. केरल की लेफ्ट सरकार ने जंक फूड पर 14.5 फीसदी फैट टैक्स लगाने का फैसला किया है. इसके साथ ही केरल फैट टैक्स लगाने वाला पहला राज्य बन गया है.

राज्‍य सरकार ने फैट टैक्‍स लगाने का एलान शुक्रवार को बजट पेश करने के दौरान किया. वित्त मंत्री थॉमस इसाक ने 8 जुलाई को कहा कि पिज्जा, बर्गर, टैको, डोनट, सैंडविच, पास्ता, बर्गर, पेटीज़ और ब्रेड फिलिंग जैसे खाद्य पदार्थ बेचने वाले ब्रांडेड रेस्तरां में ग्राहकों को 14.5 फीसदी फैट टैक्स देना होगा. 

इसके अलावा केरल सरकार ने पैकेज्‍ड बासमती चावल और नारियल तेल पर भी पांच फीसदी टैक्‍स लगाया है. वहीं डिस्‍पोजेबल ग्‍लासेस पर भी 205%, पैक्‍ड व्‍हीट प्रोडक्‍ट्स पर 5% और 10 साल पुरानी गाड़ियों पर 10% ग्रीन टैक्‍स लगाया गया है.

केरल में हाल ही में सत्ता में आई एलडीएफ सरकार ने 'रेडी टू इट' चपाती पर भी 5 प्रतिशत टैक्‍स लगाया है. वित्त मंत्री थॉमस इसाक ने एलडीएफ सरकार का पहला बजट पेश किया. इसमें रेवेन्यू बढ़ाने के लिए कई नए टैक्स लगाए गए हैं.

वित्त मंत्री ने कहा कि नए टैक्स से लगभग 10 करोड़ रुपये और जुटाए जाएंगे. हालांकि बजटीय भाषण में उन्होंने अपने इस कदम को लेकर किसी तरह की वजह का उल्लेख नहीं किया. 

गौरतलब है कि डेनमार्क, जापान और हंगरी जैसे कुछ देश पहले भी जंक फूड पर फैट टैक्‍स लगा चुके हैं. डेनमार्क ने अक्‍टूबर 2011 में बटर, चीज, पिज्‍जा, दूध जैसे प्रोडक्‍ट पर फैट टैक्‍स लगाया था. हालांकि नवंबर 2012 में इसे हटा लिया गया था. फैट टैक्‍स लगने से मैकडोनल्‍ड, पिज्‍जा हट, सबवे और डॉमिनोज जैसी मल्‍टी नेशनल फास्‍ट फूड कंपनियों की बिक्री पर असर होगा.

First published: 8 July 2016, 7:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी