Home » इंडिया » Medical college bans jeans, T-shirts leggings, short tops, students
 

मेडिकल काॅलेज का तुगलकी फरमान, स्टूडेंट्स के जींस, शॉर्ट टॉप्स पहनने पर पाबंदी

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 October 2016, 14:28 IST

केरल के तिरुअनंतपुरम स्थित एक सरकारी मेडिकल कॉलेज ने जीन्स, लैगिंग और शॉर्ट टॉप पर मरीज से बातचीत के दौरान पहनने पर पाबंदी लगा दी है. 

यह फरमान शुक्रवार को त्रिवेन्द्रम मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल ने जारी किया. इस सर्क्युलर के जारी होते ही विवाद बढ़ गया है, स्टूडेंट्स भी इसका जमकर विरोध कर रहे हैं. 

क्या है जारी नए नियम?

1. छात्रों को जीन्स, टी शर्ट, चप्पल की जगह साफ-सुथरे कपड़े पहनकर आने होंगे.

2. क्लास में आैर मरीजों से मिलते वक्त शॉर्ट टॉप, जीन्स, लैगिंग, चप्पल और ‘आवाज वाले आभूषण’ नहीं पहनें, चूड़ीदार पाजामा या साड़ी पहनें. 

3. एप्रिन पहनने के साथ आईकार्ड भी गले में लटका कर रखना होगा.

चिकित्सा कॉलेज परिसंघ के अध्यक्ष डॉ. संतोष ने कहा, "हम इस तरह से सर्क्युलर का बिल्कुल भी समर्थन नहीं करते हैं. समय बदल चुका है. मैं इस बात से सहमत हूं कि उन्हें सफेद ओवरकोट पहनना चाहिए लेकिन उन्हें जींस और लैंगिंग पहनने से रोकना मूर्खता होगी." 

वाइस प्रिंसिपल की जुबानी  

वाइस प्रिंसिपल ने कहा कि ड्रेस कोड सिर्फ क्लास में हिस्सा लेने और वार्ड्स में मरीजों को देखते वक्त के लिए हैं. इसके अलावा वो अपनी मर्जी के कपड़े पहन सकते हैं.

वाइस प्रिंसिपल का कहना है, "हमने इस साल से मेडिकल कॉलेज ने ड्रेस कोड का कड़ाई से पालन कराने का फैसला किया है."

First published: 22 October 2016, 14:28 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी