Home » इंडिया » Kerala temple tragedy: Case registered against 30, explosives recovered
 

कोल्लम मंदिर हादसा: मंदिर प्रशासन समेत 30 पर केस दर्ज

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 April 2016, 18:04 IST

केरल के कोल्लम जिले में पुत्तिंगल मंदिर के पास बारूद से भरी तीन कार मिली है. जानकारी मिलते ही पुलिस और बम निरोधक दस्ता मौके पर पहुंच गया है. इसके अलावा एक्सप्लोज़िव एक्सपर्ट्स की एक टीम भी कार में रखे विस्फोटक की जांच कर रही है.

कोल्लम के पुत्तिंगल मंदिर में रविवार को आतिशबाजी के दौरान हादसे में 110 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी. मरने वालों की तादाद बढ़ने का अनुमान है. वहीं हादसे में करीब 400 लोग घायल बताए जा रहे हैं.

पढ़ें: केरल के पुत्तिंगल मंदिर में भीषण आग, 105 श्रद्धालुओं की मौत

मंदिर प्रशासन के खिलाफ केस

इस बीच लापरवाही बरतने के आरोप में पुलिस ने मंदिर प्रशासन के खिलाफ केस दर्ज किया है. हादसे की जांच कर रही क्राइम ब्रांच ने 30 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. आरोपियों में मंदिर ट्रस्ट बोर्ड के सदस्य भी शामिल हैं.

हादसे की न्यायिक जांच के भी आदेश दिए गए हैं. इस बीच पुलिस ने आतिशबाजी के लिए जिम्मेदार माने जा रहे पांच लोगों को हिरासत में लिया है.

पढ़ें: चुनाव से पहले जाने केरल का सच

चिंगारियों की चपेट में आया पटाखा गोदाम

रविवार को पुत्तिंगल देवी मंदिर में आग लगने की घटना के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी वहां का दौरा किया था. पीएम के साथ 15 बर्न स्पेशलिस्ट डॉक्टरों की टीम भी गई थी.

कोल्लम के कलेक्टर ए शानामोबल का कहना है कि आतिशबाजी की इजाजत नहीं दी गई थी. पुलिस का कहना है कि गोदाम ‘कंबापुरा’ में चिंगारियां गिर जाने की वजह से दुर्घटना हुई.

सात दिवसीय 'मीना भरणी' उत्सव के अंतिम दिन आतिशबाजी के दौरान पुत्तिंगल मंदिर में यह दर्दनाक हादसा हो गया था. आतिशबाजी के दौरान रॉकेटनुमा पटाखा ऊपर ना जाकर बीच में फट गया और पटाखों से भरे गोदाम पर गिर गया.

धमाका इतना जबर्दस्त था कि जिस कमरे में विस्फोटक जमा कर रखे गए थे वह भवन ही ध्वस्त हो गया.

पढ़ें: केरल: भूमाफिया और सरकारी अनदेखी की चपेट में दम तोड़ती धान की खेती

First published: 11 April 2016, 18:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी