Home » इंडिया » Kerala woman with rare bone disorder sitting in UPSC exam with oxygen cylinder
 

जज्बे को सलाम: UPSC के प्री एग्जाम में ऑक्सीजन सिलेंडर लगाकर बैठी ये महिला उम्मीदवार

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 June 2019, 10:17 IST

कुछ कर गुजरने का अगर जुनून हो तो कोई भी मुसीबत आपको रोक नहीं सकती. ऐसा एक नजारा कल यानि रविवार को केरल के कोट्टायम में देखने को मिला. जहां 24 साल की एक लड़की व्हीलचेयर पर बैठ मुंह पर ऑक्सीजन सिलेंडर लगाकर UPSC का प्री एग्जाम देने परीक्षा केंद्र पहुंची.

कोट्टायम की रहने वाली लतीशा अंसारी टाइप-2 ओस्टियोजेनेसिस इमपरफेक्टा (जिसमें रोग और सांस लेने में परेशानी होती है) नाम की एक दुर्लभ बीमारी से जूझ रही हैं. इतनी खतरनाक बीमारी के बावजूद लतीशा यूपीएससी की प्री परीक्षा देने पहुंची. इस दौरान वह मुंह पर ऑक्सीजन का सिलेंडर लगाए हुए थीं.

लतीशा बताती हैं कि वह पिछले करीब डेढ़ साल से संघ लोकसेवा आयोग की इस परीक्षा की तैयारी कर रही है और उन्हें उम्मीद है कि उनकी कोशिशें सार्थक होंगी. वह जन्म के बाद से ‘टाइप 2 ओस्टियोजेनेसिस इमपरफेक्टा’ से पीड़ित है. साथ ही पिछले एक साल से वह सांस लेने में भी परेशानी महसूस कर रही हैं. जिसके चलते उन्हें हमेशा ऑक्सीजन सिलेंडर की जरूरत पड़ती है.

कोट्टायम जिला कलेक्टर पीआर सुधीर बाबू के हस्तक्षेप के चलते परीक्षा भवन के अंदर लतीशा को ‘ऑक्सीजन कांसेंट्रेटर’ उपलब्ध कराया गया था. आनुवांशिक विकार से ग्रस्त बच्चों के लिए काम करने वाली एक संस्था 'अमृतवर्षिनी' से जुड़ी लता नायर बताती हैं कि, लतीशा जैसी अभ्यर्थियों को यूपीएससी से बेहतर सुविधाएं दिए जाने की जरूरत है. उन्होंने बताया कि लतीशा को मेडिकल जरूरतों के लिए हर महीने करीब 25,000 रूपये की जरूरत है. यूपीएससी ने रविवार को देश के 72 शहरों में सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा का आयोजित कराया था.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज करेंगे सियाचिन का दौरा, आतंकवाद निरोधक अभियान के लेंगे जायजा

First published: 3 June 2019, 10:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी