Home » इंडिया » Kisan-Mazdoor Sangharsh rally, Thousands begin march from Ramlila Maidan
 

मोदी सरकार के खिलाफ किसान-मजदूर, रामलीला मैदान से संसद मार्ग तक विशाल रैली

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 September 2018, 11:36 IST

विभिन्न राज्यों से हजारों किसान और कर्मचारी रैली के लिए राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली पहुंच गए हैं. कार्यकर्ता-किसान पार्लियामेंट स्ट्रीट से जंतर मंतर तक बुधवार को रैली का आयोजन कर रहे हैं. इन लोगों की मांग श्रम कानूनों, न्यूनतम मजदूरी, अधिक रोजगार और श्रमिकों के रूप में एक करोड़ आंगनवाड़ी और आशा श्रमिकों को मान्यता देने की है.

 

किसान-मजदूर संघर्ष रैली का आयोजन सीपीआई (एम) - भारतीय ट्रेड यूनियनों (सीआईटीयू), अखिल भारतीय किसान सभा (एआईकेएस) और अखिल भारतीय कृषि श्रमिक संघ (एआईआईडब्ल्यूयू) से संबद्ध संगठनों द्वारा किया गया है. इसमें वो लोग भी शामिल हैं जिन्होंने इस साल मार्च में महाराष्ट्र में किसान मार्च में भाग लिया था. वह लोन माफ और उचित न्यूनतम समर्थन मूल्य की मांग कर रहे थे.

 

इससे पहले वामपंथी नेता सीताराम येचुरी, वृंदा करात और प्रकाश करात ने प्रदर्शनकारियों से मुलाकात की. इस रैली के आयोजन की योजना पांच महीने पहले शुरू हुई थी.  रैली कर रहे संगठनों की मुख्या मांग है कि महंगाई लगाम लगाई जाए, खाद्य वितरण प्रणाली की व्यवस्था को ठीक किया जाए, मौजूदा पीढ़ी को उचित रोजगार मिले, सभी मजदूरों के लिए न्यूनतम मजदूरी भत्ता 18000 रुपया प्रतिमाह तय किया जाए.

साथ ही किसानों की मांग है कि खेती में लगे मजदूरों के लिए एक बेहतर कानून बनाया जाए. साथ ही खाद्य सुरक्षा, स्वास्थ्य, शिक्षा और घर की सुविधा मिले और मजदूरों को ठेकेदारी प्रथा से राहत मिले. 

First published: 5 September 2018, 11:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी