Home » इंडिया » PM Narendra Modi turns 66, some statement of big business tycoons
 

2001 में ही एक बड़े आदमी ने कहा था- 'मोदी लंबी रेसो नो घोड़ो छे'

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 September 2016, 18:36 IST
(ट्विटर)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 66 साल के हो गए हैं. देश और दुनिया से उनको जन्मदिन की बधाई और शुभकामना संदेशों का सिलसिला जारी है. पीएम मोदी ने गुजरात के सीएम की जिम्मेदारी निभाने के बाद दो साल पहले हुए लोकसभा चुनाव में भारी जीत हासिल करने के बाद देश की बागडोर अपने कंधों पर संभाली है.

पीएम मोदी ने भारत की सियासत में जिस तरह कामयाबी की सीढ़ियां चढ़ी हैं, उससे पिछले तीन दशक के दौरान वह देश के सबसे कद्दावर नेता के तौर पर उभरे हैं. हालांकि सत्ता संभालने के ठीक एक साल बाद 2002 में जब नरेंद्र मोदी को विपक्ष ने गुजरात दंगों को लेकर घेरना शुरू किया, तो कम लोगों को उम्मीद थी कि वह देश की सबसे बड़ी लोकतांत्रिक कुर्सी तक पहुंच पाएंगे.

दंगों के दाग से बाहर निकलते हुए मोदी ने एक विकास पुरुष की छवि को सामने लाने के लिए सियासत में लंबा सफर तय किया. कारोबार से जुड़ी बड़ी हस्तियों ने वक्त-वक्त पर मोदी के बारे में अपनी राय जताई है. इनमें सबसे पहला नाम धीरूभाई अंबानी का आता है. जिन्होंने 2001 में ही मोदी में संभावनाओं का सागर देखा था. देश के बड़े बिजनेस टाइकून मोदी के बारे में क्या सोचते हैं, एक नजर:

धीरूभाई अंबानी

नरेंद्र मोदी ने 2001 में गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर पहली बार शपथ ली थी. उससे पहले ही एक मुलाकात के बाद मशहूर उद्योगपति धीरूभाई अंबानी ने कहा, "मोदी लंबी रेसो नो घोड़ो छे." इसका मतलब ये है कि मोदी लंबी रेस के घोड़े हैं और वह काफी आगे जाएंगे.

रतन टाटा

देश के बड़े कारोबारियों में से एक रतन टाटा भी मोदी के मुरीद हैं. टाटा ने पीएम मोदी के काम करने की स्पीड को फर्राटा धावक उसैन बोल्ट जैसी बताया था.

सिंगूर में नैनो प्लांट की जमीन विवादों में फंसने के बाद मोदी ने टाटा को गुजरात के साणंद में जमीन मुहैया कराई थी. इस पर टाटा ने मोदी को गुड और ममता को बैड बताया था.

विकीपीडिया

अनिल अंबानी

पीएम मोदी के बारे में बिजनेसमैन अनिल अंबानी की भी बेहतरीन राय रही है. पीएम बनने से पहले ही अनिल अंबानी ने मोदी को लॉर्ड ऑफ द मैन कहा था.

यही नहीं अनिल अंबानी ने मोदी को लीडर एमंग द लीडर्स एंड किंग एमंग द किंग्स करार दे दिया था. इसका मतलब ये है कि मोदी दुनिया के सबसे बेहतरीन इंसान हैं. वह राजाओं में राजा और नेताओं के भी नेता हैं.

आनंद महिंद्रा

देश के बड़े उद्योगपतियों में गिने जाने वाले महिंद्रा एंड महिंद्रा के प्रमुख आनंद महिंद्रा भी मोदी की अक्सर तारीफ करते हैं.

जब नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री पद पर थे, इस दौरान आनंद महिंद्रा ने गुजरात में हुए विकास कार्य की सराहना करते हुए कहा था कि एक दिन ऐसा आएगा जब गुजरात के ग्रोथ मॉडल की तुलना चीन में होगी.

First published: 17 September 2016, 18:36 IST
 
अगली कहानी