Home » इंडिया » kota coaching students murder by a gang of students
 

बीजेपी विधायक: कोटा में बिहार के छात्रों की वजह से बढ़ा अपराध

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:50 IST

राजास्थान के कोटा में एलेन कोचिंग इंस्टीट्यूट से मेडिकल की तैयारी कर रहे बिहार के छात्र सत्यप्रकाश उर्फ प्रिंस राज की हत्या पर सियासत गरमा गई है. गुरुवार शाम को छात्रों के गुट ने उसकी चाकू घोंपकर हत्या कर दी.

इस मामले में कोटा पुलिस का कहना है कि यह छात्रों के दो गुटों के बीच वर्चस्व की लड़ाई का नतीजा है. मृत छात्र के पिता सुरेन्द्र कुमार सिंह नवादा के कादिरगंज पोस्ट ऑफिस में काम करते हैं.

छात्र सत्यप्रकाश की हत्या


घटना के बारे में बताया जा रहा है कि गुरुवार की शाम एक रेस्त्रां में मामूली विवाद को लेकर छात्रों के दो गुटों में महावीर नगर इलाके में करीब 40 मिनट तक खूनी संघर्ष चलता रहा. उसी दौरान किसी ने पीछे से सत्यप्रकाश की पीठ में चाकू घोंप दिया.

हिंसक झड़प में सत्यप्रकाश के अलावा एक अन्य छात्र संदीप भी गंभीर रूप से घायल हआ है. सत्यप्रकाश के साथ हुई इस घटना की जानकारी पुलिस ने तुरंत उसके पिता को दी. सूचना मिलने के बाद उसके पिता और मामा तुरंत ही कोटा के लिए रवाना हुए.

वहीं सत्यप्रकाश की मां, बहन और दादा-दादी को गुरुवार तक पता था कि वह गंभीर रूप से घायल है और उसका कोटा के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है, लेकिन शुक्रवार को जब टीवी पर उसकी मौत की खबर प्रसारित हुई तो परिवार समेत पूरे गांव में शोक का माहौल हो गया.

राजावत का बेतुका बयान


इस बीच छात्र की हत्या पर कोटा के लाडपुरा से बीजेपी के विधायक भवानी सिंह राजावत ने विवादास्पद बयान दिया है.

बीजेपी विधायक ने कहा,"बिहार के छात्रों ने कोटा में अपराध का वातावरण बना दिया है. इन्हीं की वजह से कोटा में क्राइम का ग्राफ बढ़ गया है. अगर अपराध को कम करना है तो इन आपराधिक बिहारी छात्रों को कोटा से बाहर निकालना होगा."

भवानी सिंह के इस बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी के ही वरिष्ठ नेता शहनवाज हुसैन ने कहा कि कोटा में बिहार के छात्र पूर तरह से सुरक्षित हैं, और कोई भी उन्हें वहां से निकाल नहीं सकता है.

kota-shahnawaz-hussain

विवादित बयानों की फेहरिस्त


बीजेपी विधायक भवानी सिंह राजावत इससे पहले भी विवादास्पद बयान देते रहे हैं.

अप्रैल में भवानी सिंह ने पाकिस्तान के मुद्दे पर कहा था कि बंटवारे के वक्त जब पाकिस्तान इस्लामिक राष्ट्र घोषित हो गया था, उसी समय हिन्दुस्तान को हिन्दू राष्ट्र घोषित कर देना चाहिए था. ऐसा नहीं करने की भूल का खमियाजा अब पूरे देश को झेलना पड़ रहा है.

राजावत ने कहा था कि कुछ राष्ट्र विरोधी लोग जगह-जगह पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा रहे हैं. वंदे मातरम् नहीं बोलकर राष्ट्र का अपमान कर रहे हैं. इसके अलावा नगर निगम चुनाव में मतदाताओं को धमकाने वाला उनका एक वीडियो भी वायरल हुआ था.

First published: 14 May 2016, 1:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी