Home » इंडिया » Kudankulam cyber attack: North Korean hackers stole technology data
 

कुडनकुलम साइबर हमला: उत्तर कोरियाई हैकर्स ने चुराया था प्रौद्योगिकी डेटा- रिपोर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 November 2019, 15:27 IST

संदिग्ध उत्तरी कोरियाई हैकरों ने गुरुवार को कुडनकुलम परमाणु ऊर्जा संयंत्र में कंप्यूटर से प्रौद्योगिकी संबंधी डेटा चुराया था. द क्विंट की रिपोर्ट के अनुसार दक्षिण कोरिया स्थित मैलवेयर विश्लेषकों के एक विशेषज्ञ समूह इश्यूमेकर लैब्स ने कहा कि साइबर हमलावरों, जिन्होंने डेटा चोरी के लिए डिज़ाइन किए गए मैलवेयर को भेजा था वह उत्तर कोरियाई सरकार द्वारा समर्थित है.

इश्यूमेकर लैब्स के संस्थापक साइमन चोई ने कहा "हमने पाया है कि परमाणु ऊर्जा संयंत्र प्रौद्योगिकी से संबंधित डेटा चुरा लिया गया है." भारत में सरकार द्वारा संचालित परमाणु ऊर्जा निगम (Nuclear Power Corporation of India) ने 30 अक्टूबर को प्लांट के एक कंप्यूटर में मालवेयर होने की बात को स्वीकार किया था. लेकिन दावा किया कि हमले के कारण कोई भी सिस्टम प्रभावित नहीं हुआ.

यह सूचना अधिकारी द्वारा स्पष्ट रूप से इनकार किए जाने के एक दिन बाद आया कि साइबर हमला संभव था. इश्यूमेकर्स लैब ने कहा कि उत्तर कोरियाई हैकर्स के एक से अधिक समूह थे जिन्होंने मैलवेयर तैनात किया. उत्तर कोरिया में लगभग सात हैकर समूह हैं. इन्होने 2009 में दक्षिण कोरिया की सरकारी वेबसाइट और 2014 में सोनी पिक्चर्स को निशाना बनाया था. इन हैकर्स ने 2014 में कोरिया हाइड्रो एंड न्यूक्लियर पावर कंपनी लिमिटेड पर हमला किया था.

Agent Smith वायरस ने भारत के डेढ़ करोड़ स्मार्टफोन्स को पहुंया नुकसान, आपके फोन पर क्या पड़ा असर

First published: 7 November 2019, 15:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी