Home » इंडिया » LAC controversy: India-China military commanders will meet today, talks will be held on these issues
 

LAC विवाद : भारत-चीन सैन्य कमांडरों के बीच आज मीटिंग, इन मुद्दों पर होगी बातचीत

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 June 2020, 9:26 IST

पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर तनावपूर्ण स्थिति को हल करने के लिए आज भारत और चीन के शीर्ष सैन्य कमांडरों के बीच मीटिंग होने जा रही है. कहा गया है कि 12 दौर की मीटिंग के बाद भी अभी तक कोई हल नहीं निकल पाया है. विवाद हल करने को लेकर होने जा रही इस बैठक पर दुनियाभर की नजरें टिकी हुई हैं. 

विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा ''शुक्रवार की बैठक के दौरान दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हुए कि उनके नेतृत्व द्वारा प्रदान किए गए मार्गदर्शन के अनुसार उन्हें एक दूसरे की संवेदनाओं, चिंताओं और आकांक्षाओं का सम्मान करने के महत्व को ध्यान में रखते हुए शांतिपूर्ण चर्चा के माध्यम से अपने मतभेदों को हल करना चाहिए और उन्हें विवाद को खत्म करना चाहिए."


आज होने जा रही मीटिंग में अधिकारियों के भारतीय प्रतिनिधिमंडल में 10 अन्य अधिकारियों के साथ 14 कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह शामिल होंगे जो चीनी समकक्षों के साथ पहले की बैठकों का भी हिस्सा थे. प्रतिनिधिमंडल के चीनी पक्ष का प्रतिनिधित्व मेजर जनरल लिन लियू और पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के 10 अन्य अधिकारियों द्वारा किया जाएगा, जो भारत के साथ पहले की बातचीत का हिस्सा थे.

पिछले महीने सिक्किम और लद्दाख सेक्टर में सैकड़ों भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़पों के बाद LAC के साथ तनाव बढ़ गया था. दोनों पक्षों के सेना अधिकारियों ने विवादित सीमा पर कई बैठकें कीं, लेकिन गतिरोध खत्म करने में असमर्थ रहे. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक शनिवार को होने वाली इस मीटिंग में गलवान एरिया, पैंगोग त्सो और गोगरा एरिया पर बातचीत होगी.

इस मीटिंग का सबसे महत्वपूर्ण मुद्दा पैंगोग त्सो में चीनी सैनिकों की मौजूदगी होगी, जो फिंगर-4 तक आ चुके हैं. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस मीटिंग में भारत पैंगोग त्सो, गलवान घाटी और देमचोक में तनाव को कम करने पर जोर देगा.

COVID-19: दुनियाभर में 3.98 लाख से ज्यादा मौतें, भारत में इटली से भी अधिक हुई संक्रमितों की संख्या

First published: 6 June 2020, 9:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी