Home » इंडिया » Laddakh: 20 Indian soldiers killed in the violent face-off with China in Galwan valley
 

लद्दाख: LAC पर सोमवार रात हुई थी हिंसक झड़प, भारतीय सेना ने ऐसे गंवा दिए 20 जवान

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 June 2020, 23:00 IST

India China Violent: लद्दाख के गलवान घाटी में सोमवार रात भारतीय-चीनी सेना के बीच हुई हिंसक झड़प से एक बड़ी खबर आई है. खबर है कि इस झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए हैं. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, सेना के सूत्रों का कहना है कि शहीदों की संख्या अभी बढ़ सकती है. वहीं चीन के 43 जवानों के भी हताहत होने की बात सामने आ रही है.

क्या हुआ था सोमवार रात?

5 मई से भारत और चीन के बीच शुरू हुए सीमा विवाद के बाद दोनों देशों के बीच कई चरणों की बातचीत जारी थी. 6 जून को दोनों देशों के बीच वापस लौटने की खबरें सामने आ रही थीं. इसके बाद 15 जून की रात दोनों देशों की सेनाओं की तरफ से रात में पीछे हटने की प्रक्रिया चल रही थी. इस दौरान अचानक चीनी सैनिकों की ओर से हरकतें की गईं.

खबर के अनुसार, इस हिंसक झड़प में दोनों तरफ से लाठी-डंडे और पत्थर चलाए गए. इसके बाद आज शुरुआत में भारतीय सेना की तरफ से कर्नल समेत तीन जवानों के शहीद होने की खबरें सामने आई थीं. वहीं चीन की तरफ से पांच जवानों के मरने की खबर बताई जा रही थी.

हालांकि शाम होते-होते दोनों तरफ से मृतक जवानों की संख्या बढ़ गई. समाचार एजेंसी एएनआई ने भारतीय सेना और सरकारी सूत्रों के हवाले से बताया कि भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हुए हैं. गंभीर रूप से घायल 17 जवान शाम होते-होते वीरगति को प्राप्त हुए.

साल 1962 के बाद यह पहला मौका है जब लद्दाख इलाके में भारतीय सैनिक शहीद हुए हैं. मामले को लेकर दिन भर उच्च स्तरीय बैठक चलती रही. देश के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के साथ तीनों सेना प्रमुखों और विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ मुलाकात की. इसके बाद रक्षामंत्री ने पीएम मोदी को मामले की जानकारी दी.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को पूर्वी लद्दाख में हालात पर विचार-विमर्श करने के लिए शीर्ष सैन्य अधिकारियों के साथ लगातार दो बैठकें की. रक्षामंत्री के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के गृहमंत्री अमित शाह के साथ मुलाकात की है.

5 मई को पेंगॉन्ग सो में हुई थी हिंसक झड़प से विवाद की शुरुआत

भारत और चीनी सेना के बीच पेंगॉन्ग सो में 5 मई को हिंसक झड़प हुई थी. इसके बाद से ही भारत और चीन की सेना के बीच गतिरोध जारी है. पेंगॉन्ग सो झील के पास फिंगर इलाके में भारत द्वारा सड़क बनाए जाने का चीन ने कड़ा विरोध जताया था. गलवान घाटी में दरबुक-शायोक-दौलत बेग ओल्डी रोड को जोड़ने वाली सड़क को लेकर भी चीन ने आपत्ति जताई थी. 

भारत-चीन विवाद: गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प, एक भारतीय अधिकारी और दो जवान हुए शहीद

महाराष्ट्र में सरकार पर आ सकता है संकट ! सामना में लिखा- कांग्रेस पुरानी खटिया, ज्यादा कर रही है कुरकुर

First published: 16 June 2020, 22:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी