Home » इंडिया » Catch Hindi: Lalu Yadav created controversy by inspecting hospital in Bihar
 

सुपर सीएम लालू? अस्पताल दौरे पर भाजपा हमलावर

आशीष कुमार पाण्डेय | Updated on: 5 January 2016, 23:11 IST
QUICK PILL
  • राजद सुप्रीमो लालू यादव के इंदिरा गांधी चिकित्सा विज्ञान संस्थान (आईजीआईएमएस) के औचक निरीक्षण पर हुआ विवाद.
  • भाजपा ने नीतीश सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि महागठबंधन की सरकार में एक सुपर सीएम भी हैं जो सत्ता को अपने रसूख से चलाना चाहते हैं.

राजद सुप्रीमो लालू यादव के पटना स्थित इंदिरा गांधी चिकित्सा विज्ञान संस्थान (आईजीआईएमएस) के औचक निरीक्षण पर विवाद हो गया है. विपक्ष ने लालू के इस कदम को गैर-संवैधानिक बताया है. लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव बिहार सरकार में स्वास्थ्य मंत्री हैं.

राज्य में मुख्य पार्टी भाजपा ने लालू यादव को सुपर सीएम बताते हुए सवाल खड़ा किया है कि आखिर किस अधिकार से लालू यादव अस्पताल का निरीक्षण करने गये थे.

विपक्ष का कहना है कि लालू न नीतीश कुमार सरकार में मंत्री हैं और न ही विधान सभा के सदस्य. ऐसे में उनका किसी सरकारी अस्पताल का दौरा करना गैर-संवैधानिक है.

सुशील मोदीः राज्य में मुख्यमंत्री का एक पद होता है, लेकिन बिहार की इस महागठबंधन की सरकार में एक सुपर सीएम भी हैं

इस निरीक्षण दौरान लालू ने न केवल अस्पताल में दी जा रही सुविधाओं के बारे में जानकारी ली बल्कि अस्पताल के निदेशक डॉ. एनके बिस्वास को बुला कर  इंफ्रास्ट्रक्चर और सुविधाओं को बढ़ाने के बारे में भी बात की.

बिहार में पिछले साल नवंबर में जदयू, राजद और कांग्रेस की महागठबंधन की सरकार बनी. जिसके बाद नीतीश कुमार पांचवी बार राज्य के मुख्यमंत्री बने.

नीतीश मंत्रिमंडल में लालू के दोनों बेटे शामिल हैं.  उनके छोटे बेटे तेजस्वी यादव राज्य के उप-मुख्यमंत्री हैं. उनके पास कई विभागों का प्रभार  है.

लालू पर सुपर सीएम होने का आरोप


राज्य में महागठबंधन सरकार बनने के बाद से ही विपक्ष 'जंगलराज' वापसी और लालू के सुपर सीएम होने का आरोप लगा रहा है.

विपक्षी दल भाजपा के नेता सुशील मोदी ने नीतीश सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि राज्य में मुख्यमंत्री का एक पद होता है. लेकिन बिहार की इस महागठबंधन की सरकार में एक सुपर सीएम भी हैं, जो सत्ता को अपने रसूख पर चलाना चाहते हैं.

महागठबंधन के कुल 178 विधायकों में राजद के 80, जदयू के 71 और कांग्रेस के 27 विधायक हैं

मोदी ने मीडिया से कहा कि इस तरह के निरीक्षण से मंत्रालयों के विभागों में दहशत का माहौल है. लालू शासन के अपने पुराने ढर्रे पर बिहार को वापस ले जाना चाहते हैं. यानी बिहार एक बार फिर जंगलराज की तरफ तेजी से बढ़ रहा है.

पिछले महीने दरभंगा में दो इंजीनियरों की गोली मार कर हत्या और उसके पहले कुछ सत्ताधारी विधायकों द्वारा सरकारी बंगलों पर कब्जा जमाने के आरोप को लेकर भी नीतीश सरकार विपक्ष के निशाने पर आ चुकी है.

First published: 5 January 2016, 23:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी