Home » इंडिया » Law Commission suggests compulsory registration of marriage in 30 days of marriage
 

अगर शादी के 30 दिन के अंदर रजिस्ट्रेशन नहीं कराया तो...

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 July 2017, 16:13 IST

अगर आप शादी करने जा रहे हैं या आपकी शादी नहीं हुई है, तो इस ख़बर पर ध्यान दीजिए. केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार जल्द ही शादी के रजिस्ट्रेशन को अनिवार्य बनाने पर मंथन कर रही है. खबर है कि केंद्र सरकार लॉ कमीशन (न्यायिक आयोग) की रिपोर्ट को आधार बनाकर जल्द ही शादी के पंजीकरण पर फैसला ले सकती है. 

लॉ कमीशन ने केंद्र सरकार को सलाह दी है कि शादी के 30 दिन के अंदर रजिस्ट्रेशन को अनिवार्य बनाया जाना चाहिए. यही नहीं कमीशन ने अपनी सिफारिश में कहा है कि अगर बिना कोई ठोस वजह बताए अगर शादी के रजिस्ट्रेशन में देरी होती है तो रोज़ान के हिसाब से जुर्माना वसूल किया जाए.

सुप्रीम कोर्ट ने देश में शादियों के रजिस्ट्रेशन को अनिवार्य बनाने की बात कही थी. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद हिमाचल प्रदेश, केरल, बिहार, यूपी की सरकार इस कानून को लागू कर चुकी है. इससे पहले यूपीए सरकार ने भी राज्यसभा में शादी के पंजीकरण को लेकर बिल लाने का प्रयास किया था. यूपीए सरकार ने जन्म और मृत्यु सर्टिफिकेट एक्ट, 1969 के तहत बिल पेश किया था. 

First published: 4 July 2017, 16:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी