Home » इंडिया » Lieutenant General Manoj Mukund Naravane will be the next Indian Army Chief
 

कौन हैं मनोज मुकुंद नरवणे जो होंगे देश के नए आर्मी चीफ, माना जाता है 'चीन एक्सपर्ट'

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 December 2019, 13:06 IST

New Army Chief: 31 दिसंबर 2019 को आर्मी चीफ(Army Chief) जनरल बिपिन रावत(Bipin Rawat) रिटायर हो रहे हैं. इसके साथ ही नए आर्मी चीफ(New Army Chief) के नाम का ऐलान हो गया है. लेफ्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद नरवणे(Manoj Mukund Naravane) देश के अगले आर्मी चीफ होंगे. वह 31 दिसंबर को जनरल विपिन रावत की जगह लेंगे.

नए आर्मी चीफ की नियुक्ति को सोमवार को ही हरी झंडी दिखा दी गई. लेफ्टिमेंट जनरल नरवणे के आर्मी चीफ बनने के बाद यह मौका होगा जब देश की तीनों सेनाओं के प्रमुख राष्ट्रीय रक्षा अकादमी यानि NDA के 56वें कोर्स के होंगे. इससे पहले मनोज मुकुंद नरवणे भारतीय सेना की पूर्वी कमान के प्रमुख थे.

माने जाते हैं चीन मामले के एक्सपर्ट

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद नरवणे को चीन मामले का एक्सपर्ट कहा जाता है. माना जा रहा है कि नरवणे की नियुक्ति को उच्चतम स्तर से मंजूरी मिली है. हालांकि सरकार ने नरवणे की नियुक्ति में वरिष्ठता के सिद्धांत का पालन किया है. जनरल बिपिन रावत इस पद पर तीन साल थे. अटकले हैं कि रिटायरमेंट के बाद बिपिन रावत को देश का पहला 'चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ' बनाया जा सकता है.

नरवणे सितंबर में थलसेना उप प्रमुख बनने से पहले पूर्वी कमान का नेतृत्व कर रहे थे. पूर्वी कमान चीन से लगती भारत की चार हजार किलोमीटर लंबी सीमा की रखवाली करती है. उन्हें जून 1980 में सातवीं बटालियन, सिख लाइट इन्फैंट्री रेजीमेंट में कमीशन मिला था. नरवणे 59 साल के हैं. 

अपने 39 साल के सैन्य करियर में नरवणे ने राष्ट्रीय राइफल्स बटालियन को कमांड किया है. उन्होंने कई स्ट्राइक को लीड किया है. नरवणे के पास पूर्वोत्तर और जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद विरोधी माहौल में काम करने का लंबा अनुभव है. इसके अलावा श्रीलंका में ऑपरेशन पवन के दौरान वह भारतीय शांति सेना का भी हिस्सा रहे हैं.

Weather Update: बर्फ से ढका वैष्णो देवी मंदिर, पहाड़ों पर जोरदार बर्फबारी जारी

Cold Weather: ठंड ने तोड़ा 16 साल का रिकॉर्ड, आज 7 डिग्री तक गिर सकता है पारा

First published: 17 December 2019, 12:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी