Home » इंडिया » Life threat of PM Modi on this Independence Day, Security Agencies informed NSA Ajit Doval
 

15 अगस्त के चलते पीएम मोदी की जान को सबसे ज्यादा खतरा, सुरक्षा एजेंसियों ने अजीत डोभाल को किया आगाह

अमित कुमार बाजपेयी | Updated on: 29 July 2016, 10:33 IST

इस साल स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जान को सबसे ज्यादा खतरा हैै. तमाम आतंकी संगठन इस 15 अगस्त को किसी भी हद तक जाते हुए बड़ी वारदात करने की फिराक में हैं. इस बाबत देश की खुफिया एजेंसियों द्वारा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहाकार अजीत डोभाल को सतर्क किया गया है और तमाम सुरक्षा एजेंसियों को पूरी तरह तैयार रहने को कहा गया है.

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर की मानें तो सुरक्षा एजेंसियों को उम्मीद है कि पीएम मोदी पिछले वर्ष की ही तरह इस बात उनकी सलाह को दरकिनार नहीं करेंगे. बीते वर्ष प्रधानमंत्री ने अंतिम वक्त में अचानक बुलेटप्रूफ मंच से भाषण न देने का फैसला ले लिया था. जिससे आखिरी वक्त में उनकी सुरक्षा को लेकर सुरक्षा एजेंसियों की चिंताएं बढ़ गई थीं. 

विशेष सुरक्षा दस्ते ने खुफिया रिपोर्ट के हवाले से दावा किया है कि आतंकियों की किसी भी चाल को नाकाम करने के लिए पर्याप्त सुरक्षा इंतजाम करने के साथ ही खुद से सतर्कता बरतनी जरूरी है. इसलिए इस बार लाल किले में स्वतंत्रता दिवस समारोह प्रधानमंत्री के मंच को बुलेटप्रूफ शीशे से ढंकने को कहा गया है.

रिपोर्ट में आगे बताया गया है कि कश्मीर में जारी तनाव, सीमा पर घुसपैठ और आईएस की गतिविधियों को ध्यान में रखते हुए यह सलाह दी गई है. आतंकियों द्वारा पीएम का सुरक्षा घेरा तोड़ने के लिए तमाम अत्याधुनिक तकनीकों का भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

गौरतलब है कि इससे पहले केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों द्वारा पहले ही स्वतंत्रता दिवस को अतिसंवेदनशील अवसर करार देते हुए आतंकी हमलों की आशंका जताई जा चुकी है. जबकि पुलिस और सैन्य ठिकानों पर आतंकी हमलों की योजना की भी जानकारी दी जा चुकी.

इसके बाद एनएसजी, पुलिस, सेना समेत खुफिया एजेंसियों द्वारा स्वतंत्रता दिवस समारोह से पहले हर तरफ चाकचौबंद इंतजाम किए जा रहे हैं. ताकि किसी भी संभावित हमले से पहले ही आतंकी चालों को नाकाम किया जा सके. ड्रोन हमले से भी सुरक्षा के लिए अत्याधुनिक तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है.

First published: 29 July 2016, 10:33 IST
 
अमित कुमार बाजपेयी @amit_bajpai2000

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

पिछली कहानी
अगली कहानी