Home » इंडिया » Light rainfall brings down temperature to 29 degrees Celsius in Delhi NCR Monsoon will reach north India soon
 

दिल्ली में झमाझम बारिश से खुशनुमा हुआ मौसम, इन राज्यों में जल्द मानसून पहुंचने की संभावना

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 June 2020, 9:10 IST

Weather Forecast: सोमवार सुबह दिल्ली एनसीआर (Delhi NCR) में हुई झमाझम बारिश (Rain fall) से मौसम खुशनुमा हो गया. बारिश (Rain) होने के बाद तापमान (Temperature) में गिरावट दर्ज की गई और ये गिरकर 29 डिग्री सेल्सियस पर आ गया. मौसम विभाग (Department of Meteorological) के मुताबिक, इसी के साथ उत्तर भारत (North India) में अगले दो से तीन दिनों में मानसून (Monsoon) दस्तक दे देगा. राजधानी दिल्ली में इससे पहले रविवार (Sunday) सुबह और शनिवार सुबह हुई हल्की बारिश (Light Rain) ने लोगों को उमस भरी गर्मी से राहत दी.

मौसम की परिस्थितियों में बदलाव के बाद मौसम विभाग ने नया पूर्वानुमान जारी किया था. जिसके तहत 22 से 23 जून के बीच मानसून के उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड पहुंचने की संभावना है. वहीं 24 से 25 जून के बीच ये हिमालय के पश्चिमी क्षेत्रों में पहुंच जाएगा. इसमें हरियाणा, पंजाब और पश्चिमी यूपी (West UP) शामिल हैं. इसके साथ ही मौसम विभाग ने सोमवार से शनिवार तक दिल्ली में बारिश का अनुमान जारी किया है.


इस राज्य में समय से पहले आ सकता है मानसून, कल से बदलेगा मौसम का मिजाज

सोमवार सुबह हुई बारिश के चलते दिल्ली के कई इलाकों में जलभराव की स्थित भी बन गई. जानकारी के मुताबिक, मानसूनी बारिश के चलते ये और विकराल रूप ले सकती है. ऐसा माना जा रहा है कि मानसून में होने वाली बारिश से दिल्ली के 156 स्थानों पर जलभराव की स्थिति का सामना करना पड़ेगा. इससे जाम की समस्या भी पैदा हो जाएगी. दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने जलभराव के मद्देनजर 156 जगहों की एक सूची तैयार कर पीडब्ल्यूडी, नगर निगम और विभिन्न सिविक एजेंसियों को भेजी है. चिह्नित की गई सड़कें वे हैं जहां पिछले वर्ष जलभराव हुआ था या आगे होने की संभावना है.

उत्तर भारत में उमस भरी गर्मी से हाल बेहाल, एक सप्ताह में मानसून दे सकता है दस्तक

ट्रैफिक पुलिस के अधिकारियों के मुताबिक, दिल्ली में हर साल मानसून में जलभराव की समस्या रहती है. इससे ट्रैफिक बाधित होता है. यातायात व्यवस्था बनाए रखने में मुश्किलें आती हैं. इसलिए दिल्ली के अलग-अलग 53 सर्किल में सर्वे किया गया. इसमें पूर्व में जहां जलभराव हुआ था. राजधानी दिल्ली में जिन स्थानों पर जलभराव की स्थित पैदा होने की संभावना जताई जा रही है उनमें अरबिंदो मार्ग पर अधचीनी टी प्वाइंट, एमजी रोड पर अंधेरिया मोड़, आश्रम चौक से मूलचंद तक जलभराव की स्थिति पैदा हो सकती है.

Coronavirus : मॉनसून में बढ़ेगा या कम होगा खतरनाक कोरोना वायरस, क्या कहते हैं जानकार

यूपी को मिलेगी आज गर्मी से राहत, इन जिलों में होगी झमाझम बारिश, दिल्ली में उमस का दौर जारी

वहीं धौला कुआं से एम्स जाते हुए मोती बाग फ्लाईओवर के कुछ हिस्से पर, मुकरबा चौक से आजादपुर के रास्ते मॉडल टाउन, बेर सराय मार्केट, छत्ता रेल से शांति वन जाते हुए, डीबीजी रोड वाई प्वांइट से शीला सिनेमा, धौला कुआं अंडरपास, महारानी बाग जाते हुए डीएनडी फ्लाईओवर पर गुरुग्राम रोड से परेड रोड, आईएसबीटी कश्मीरी गेट से, कालका जी डिपो से मां आनंदमयी मार्ग जैसे स्थान बारिश के मौसम जलभराव होने की संभावना है.

दिल्ली-एनसीआर में झमाझम बारिश से खुशनुमा हुआ मौसम, आज यूपी के इन जिलों को मिल सकती है गर्मी से राहत

राहुल गांधी का ट्वीट- सैटेलाइट फ़ोटो दिखाती हैं कि चीन ने पैंगोंग झील के पास भारत पर कब्ज़ा कर लिया

उधर उत्तरी ओडिशा और उसके पड़ोस में चक्रवाती वातावरण बनने से दक्षिण पश्चिम मानसून को उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश की ओर बढ़ने में मदद मिल रही है. मौसम विभाग का कहनाहै कि मानसून 23 जून तक उत्तराखंड सहित इन राज्यों के अधिकांश हिस्सों में दस्तक दे देगा. मौसम विभाग का कहना है कि इसके चक्रवाती वातावरण के कारण पूरब से चलने वाली हवा और मजबूत होगी और उसे बंगाल की खाड़ी से मिलने वाली नमी के कारण अगले तीन दिन में उत्तर भारत में मानसून पहुंच जाएगा.

कोरोना वायरस: दुनियाभर में 4.70 लाख से ज्यादा लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 90 लाख के पार

First published: 22 June 2020, 9:10 IST
 
अगली कहानी