Home » इंडिया » Lockdown 2.0: PM Modi may be announced lockdown extension today
 

लॉकडाउन 2.0 का पीएम मोदी आज कर सकते हैं ऐलान, कुछ शर्तों के साथ छूट मिलने की उम्मीद

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 April 2020, 9:10 IST

Lockdown 2.0: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज देशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) के दूसरे चरण की आज घोषणा कर सकते हैं. कोरोना वायरस (Corona Virus) के प्रसार को रोकने के लिए पीएम मोदी (PM Modi) ने देशभर में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की थी. जिसकी अवधि कल यानी मंगलवार 14 अप्रैल को समाप्त हो रही है. हालांकि, इससे पहले ओड़िशा (Odisha), पंजाब (Punjab), पश्चिम बंगाल (West Bengal) और महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुख्यमंत्रियों ने अपने-अपने प्रदेश में लॉकडाउन को आगे बढ़ा दिया है.

इन चारों राज्यों में 30 अप्रैल (30th April) तक लॉकडाउन रहेगा. दरअसल, भारत (India) में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. ऐसे में देश में किसी तरह की भारी आपदा जैसे हालात पैदा न हो जाए इसे देखते हुए देशभर में लॉकडाउन जरूरी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियोंं से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मीटिंग की थी. जिसमें लॉकडाउन को बढ़ाने संबंधी सुझाव मांगे गए थे. बैठक के दौरान ज्यादातर मुख्यमंत्रियों ने लॉकडाउन को आगे बढ़ाने की बात कही थी. अब प्रधानमंत्री आज लॉकडाउन के दूसरे चरण का ऐलान कर सकते हैं.


लॉकडाउन और कोरोना की वजह से देश की अर्थव्यवस्था को भारी नुकसान हो रहा है. ऐसे में माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अर्थव्यवस्था की इन्हीं चुनौतियों को देखते हुए लॉकडाउन को लेकर अहम घोषणाएं कर सकते हैं. इसमें उद्योगों व सड़क परियोजनाओं समेत कोरोना मुक्त जिलों को शर्तों के साथ राहत दी जा सकती है. कई मंत्रियों ने प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) को आंशिक तौर पर औद्योगिक संचालन व सड़क परियोजनाओं का निर्माण शुरू करने का सुझाव दिया है. हालांकि, उन्हें स्वास्थ्य मंत्रालय के नियमों व दिशानिर्देशों का सख्त पालन करना होगा. लॉकडाउन के पहले चरण में देश को संक्रमण की रफ्तार थामने में कामयाबी मिली है.

हालांकि, लॉकडाउन के दौरान देश की अर्थव्यवस्था पर खासा असर पड़ा है. इसीलिए पीएमओ ने मंत्रियों से सुझाव मांगे थे. इन सुझावों को पीएम अपनी घोषणा में शामिल कर सकते हैं. दूसरे चरण में कृषि-उद्योग सहित कुछ क्षेत्रों को सामाजिक दूरी के पालन की शर्त पर छूट दी जाएगी. उद्योगाें को नई व्यवस्था में कामकाज का ब्लूप्रिंट देना होगा.

बता दें कि एमएसएमई और बड़ी कंपनियां जिनके पास निर्यात के ऑर्डर हैं. भारी विद्युत उपकरण, कंप्रेसर, कंडेंसर यूनिट, दूरसंचार उपकरण निर्माता कंपनियां. स्टील लौह अयस्क मिलें, पावरलूम, रक्षा उत्पाद, सीमेंट प्लांट, कागज उद्योग, उर्वरक, बीज शोधन इकाइयां, सभी खाद्य व पेय पदार्थ, ऑटो पार्ट्स, प्लास्टिक उत्पाद के ऑर्डर हैं इसे देखते हुए इन उद्योगों को काम करने की छूट मिल सकती है हालांकि इनके लिए कुछ जरूरी शर्तों पर भी ध्यान देना होगा.

बता दें कि लॉकडाउन हटाने या ढील देने पर भारत समेत पूरी दुनिया की सरकारें विचार कर रही हैं. इसके मद्देनजर, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टेड्रोस घेब्रेयसस का कहना है कि अगर लॉकडाउन जल्द हटाया गया तो हालात सुधरने के बजाय और बिगडे़ंगे. दुनिया को खतरनाक अंजाम भुगतना पड़ सकता है, महामारी ज्यादा घातक रूप में वापसी कर सकती है.

लॉकडाउन के बाद भारत में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं ऐसे में अगर लॉकडाउन हटाया गया तो हालात बेकाबू हो जाएंगे और हजारों लोगों की जान जा सकती है. बता दें कि अब तक भारत में कोरोना के 9,205 मामले सामने आ चुके हैं और 331 लोगों की मौत हो चुकी है. रविवार को देशभर में कोरोना के 759 नए मामले सामने आए और 43 लोगों की मौत हुई.

COVID-19: दुनियाभर में अब तक 1.14 लाख से ज्यादा मौतें, अमेरिका में मरने वालों का आंकड़ा 22 हजार के पार

लॉकडाउन के दौरान केंद्र सरकार ने सभी मंत्रियों को ऑफिस में जाकर काम करने के दिए निर्देश- सूत्र

Coronavirus: मात्र 4 दिनों में 80 नए जिलों में फैला कोरोना संक्रमण, अब तक 273 लोगों की हुई मौत

First published: 13 April 2020, 9:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी