Home » इंडिया » Lockdown: Amit Shah says Mamta government not giving permission to trains running for migrant laborers
 

Lockdown: ममता सरकार प्रवासी मजदूरों के लिए चलाई जा रही ट्रेनों को नहीं दे रही अनुमति- अमित शाह

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 May 2020, 12:18 IST

Lockdown : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आरोप लगाया है कि पश्चिम बंगाल सरकार प्रवासी श्रमिकों को ले जाने वाली ट्रेनों को राज्य तक नहीं पहुंचने दे रही है. पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी को लिखे एक पत्र में अमित शाह ने लिखा है "केंद्र सरकार ने 2 लाख से ज्यादा प्रवासियों को अपने घरों तक पहुंचने के लिए परिवहन सुविधा प्रदान की है. पश्चिम बंगाल के प्रवासी भी घर पहुंचने के लिए उत्सुक हैं और केंद्र सरकार इसकी सुविधा दे रही है, लेकिन हमें उम्मीद के मुताबिक समर्थन नहीं मिल रहा है."

शाह ने अपने पत्र में कहा "पश्चिम बंगाल की सरकार राज्य तक पहुंचने वाली ट्रेनों को अनुमति नहीं दे रही है. यह पश्चिम बंगाल के प्रवासी मजदूरों के साथ अन्याय है. इससे उन्हें और कठिनाई पैदा होगी." इस महीने की शुरुआत में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने फंसे हुए प्रवासी मजदूरों, पर्यटकों और छात्रों को राहत देने के लिए राज्यों को नए आदेश जारी किये थे, इसमें फंसे हुए लोगों के इंटर स्टेट मूवमेंट की अनुमति दी गई थी.


केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने इस सप्ताह की शुरुआत में पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव को पत्र लिखा था, जिसमें राज्य में देश के उच्चतम कोरोना वायरस मृत्यु दर होने पर स्पष्टीकरण मांगा गया था. आंकड़ों के अनुसार पश्चिम बंगाल में 1,678 मामले और 160 लोगों की मौत हुई है.

पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 3,320 नए मामले सामने आए हैं और 95 मौतें हुई हैं. भारत में कोरोना वायरस पॉजिटिव मामलों की संख्या अब 59,662 हो गई है. भारत में अब 39,834 सक्रिय मामले हैं जबकि 17,847 लोग ठीक हुए हैं.

राज्यों ने लगातार तीसरे दिन 3,000 से अधिक मामले दर्ज किए हैं, जिसके बाद देश में कोरोना वायरस रोगियों की कुल संख्या 59,662 हो गई. महाराष्ट्र में शुक्रवार को भी 1,000 से अधिक मामले सामने आये. भारत में COVID-19 से संबंधित मौतों की संख्या बढ़कर 1,981 हो गई. पिछले 24 घंटों में 95 लोगों की मौत हुई है.

Coronavirus : 24 घंटे में 3000 से ज्यादा मामले, अब COVID-19 के साथ रहना सीखना होगा- हेल्थ मिनिस्ट्री

Lockdown: अब सरकार से उद्योग जगत ने की 15 लाख करोड़ के पैकेज की मांग, GDP का 7.5 फीसदी

First published: 9 May 2020, 12:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी