Home » इंडिया » Lockdown: CM of Goa says- people are breaking down to buy a shampoo
 

लॉक डाउन के दौरान लोगों के शैम्पू खरीदने से परेशान गोवा के सीएम, बुलाई CISF

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 March 2020, 15:36 IST

coronavirus lockdown के दौरान गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा है कि वह उन लोगों से परेशान हैं जो एक शैम्पू खरीदने के लिए 21 दिन के लॉकडाउन का उल्लंघन कर रहे हैं. गोवा में सरकार पर आरोप लगाए जा रहे हैं कि उनकी सरकार लोगों में डर पैदा कर रही है. कहा गया है कि कर्फ्यू के सेंट्रल बल तैनात किये गए हैं. सावंत ने रविवार को आईएएनएस को बताया "जिन लोगों को घर के लिए जरूरी सामान खरीदने की जरूरत है, परिवार के एक व्यक्ति को बाहर भेजना चाहिए और सामान खरीदना चाहिए''.

उन्होंने कहा ''हमने देखा है कि लोग शैंपू खरीदने के लिए लॉक डाउन के दौरान अपने घरों से भी निकल जाते हैं." मुख्यमंत्री ने CISF तैनाती को भी उचित ठहराया. पहले सोशल मीडिया में कई वीडियो सामने आये थे, जिनमें जवानों को लोगों को लाठी से पीटते और फ्रॉग जंप  करवाते देखा जा रहा था.


आरोपों के जवाब में सावंत ने कहा, "सीआईएसएफ दिल्ली से नहीं आया है. वे गोवा में ही तैनात थे. हम उन्हें लोगों को दंडित करने के लिए नहीं लाये हैं. हम लोगों को परेशान नहीं करना चाहते लेकिन उन्हें कानून और व्यवस्था को बनाए रखना चाहिए."

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि आवश्यक सामान खरीदने वाले केंद्रीय बल के निशाने पर बिल्कुल भी नहीं हैं. उन्होंने कहा कि सीआईएसएफ कर्फ्यू के दौरान दोपहिया वाहनों पर घूम रहे युवाओं को रोकने में मदद करेगा. सावंत ने कहा "अनावश्यक रूप से युवा सड़कों पर सवारी के लिए बाइक निकालते हैं''.

उन्होंने कहा अगर कोई दूध, आवश्यक चीजें या दवा खरीदने के लिए बाहर जाता है, तो यह ठीक है, लेकिन युवाओं को बाहर नहीं जाना चाहिए, क्योंकि वे अपने परिवार में कोरोनोवायरस फैला सकते हैं''. रविवार को जारी एक बयान में सीआईएसएफ कर्मियों द्वारा मारपीट के वायरल वीडियो के संबंध में पुलिस महानिरीक्षक जसपाल सिंह ने कहा कि केंद्रीय बल को एक घटना के आधार पर नहीं आंका जाना चाहिए. 

Coronavirus: लॉकडाउन को 21 दिन से आगे बढ़ाने का अभी कोई प्लान नहीं, खबरें हैं झूठी : सरकार

First published: 30 March 2020, 15:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी