Home » इंडिया » Lockdown: Despite Kejriwal's appeal, migrants continue to leave from Delhi, these allegations
 

Lockdown : केजरीवाल की अपील के बावजूद दिल्ली से लोगों का जाना लगातार जारी, कहा- समय देना चाहिए था

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 April 2021, 11:04 IST
Lockdown : Migrant workers continue to leave for their hometown (Lockdown : Migrant workers continue to leave for their hometown )

Lockdown In Delhi : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा 6 दिन के लॉकडाउन की घोषणा करने के बाद सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में रेलवे स्टेशनों और बस टर्मिनलों पर सैकड़ों लोग अपने घरों को लौटने के लिए इकट्ठा हो गए. दिल्ली में 26 अप्रैल को सुबह 5 बजे तक लागू रहेगा. दिल्ली से श्रमिकों का जाना मंगलवार सुबह भी जारी रहा. इससे पहले मार्च 2020 में भी लॉक डाउन के दौरान लोगों की भी चर्चा जा विषय बन गया था.

अधिकांश सार्वजनिक परिवहन बंद हो जाने के कारण हजारों प्रवासी श्रमिकों को निजी वाहनों से जाने पर मजबूर होना पड़ा था. सोमवार को भी प्रवासी श्रमिकों ने कहा कि सीएम केजरीवाल को लॉकडाउन की घोषणा करने से पहले अधिक समय देना चाहिए था. ANI के अनुसार प्रवासी मजदूरों ने बताया "हम रोजाना कमाने वाले हैं. लॉकडाउन की घोषणा करने से पहले मुख्यमंत्री को हमें कुछ समय देना चाहिए था."


उन्होंने कहा "हमें घर पहुंचने में 200 रुपये लगते हैं, लेकिन अब वे 3,000 से 4,000 रुपये चार्ज कर रहे हैं, हम घर कैसे जाएंगे?" कई लोगों को फिर से अपना रोजगार गंवाने की चिंता होने लगी है. एक वर्कर ने ANI को बताया "हमारे लिए कोई काम नहीं है और लॉकडाउन के दौरान कोई मकान मालिक या सरकार हमारी मदद नहीं करेगी. अगर और लॉकडाउन होता है, तो हम जीवित नहीं रह पाएंगे."

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार उत्तर प्रदेश के नोएडा में फूड स्टॉल चलाने वाले 32 वर्षीय अनिल प्रसाद का कहना है कि वह पिछले साल मार्च में झारखंड अपने घर गए थे और दिसंबर में ही वापस आए. लेकिन जब से मामलों में वृद्धि हुई है, लोगों ने फिर से आना बंद कर दिया है."

दिल्ली के सीएम केजरीवाल के अनुरोध के बावजूद लोगों ने दिल्ली से जाना शुरू कर दिया है. दिल्ली के सीएम ने 'मैं हूं ना' कह कर प्रवासियों को घर न जाने का अनुरोध किया था. दिल्ली हाईकोर्ट ने सोमवार को कहा कि केंद्र और AAP सरकार पिछले साल के लॉकडाउन के दौरान प्रवासी श्रमिकों के बारे में सोचने में बुरी तरह विफल रही है.

सोमवार को लगाए गए प्रतिबंधों को ध्यान में रखते हुए अदालत ने कहा कि पिछले लॉकडाउन से सबक लिया जा सकता है." भारत में पिछले 24 घंटे में COVID-19 के 2,59,170 नए मामले आने के बाद कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 1,53,21,089 हो गई है. 1,761 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 1,80,530 हो गई है.

देश में अब सक्रिय मामलों की कुल संख्या 20,31,977 है और डिस्चार्ज हुए मामलों की कुल संख्या 1,31,08,582 है. देश में कुल 12,71,29,113 लोगों को कोरोना वायरस की वैक्सीन लगाई गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम 6 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए वैक्सीन निर्माताओं के साथ बैठक करेंगे.

Covid-19 मामलों में बढ़ोतरी के बीच रद्द हो सकती है PM मोदी की आगामी पुर्तगाल और फ्रांस यात्रा

First published: 20 April 2021, 11:00 IST
 
अगली कहानी