Home » इंडिया » Lockdown in Delhi: CM Kejriwal says no relaxation in Lockdown in Delhi from April 20
 

कोरोना वायरसः अभी ठीक नहीं हैं दिल्ली के हालात, लॉकडाउन में 20 अप्रैल से भी नहीं मिलेगी कोई छूट

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 April 2020, 15:12 IST

Lockdown in Delhi: राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना वायरस संक्रमितों (Corona Virus Infection) की संख्या तेजी से बढ़ रही है. इसी को देखते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने कोरोना जांच तेज कर दी है. शनिवार को राजधानी में 736 लोगों की कोरोना जांच (Corona Test) की गई. जिनमें से 186 लोगों का टेस्ट कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) आया है. केजरीवाल ने रविवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान इस बात की पुष्टिर की. केजरीवाल ने बताया कि शनिवार को जिन 186 लोगों की जांच सकारात्मक आई है उनमें कोरोना के किसी तरह के लक्षण नहीं पाए गए. जो एक चिंता की बात है.

दिल्ली के हालातों को देखते हुए सीएम केजरीवाल ने 20 अप्रैल से भी लॉकडाउन में किसी तरह की छूट देने से इनकार किया है. सीएम केजरीवाल ने कहा, अपने दिल्ली वासियों के जीवन का ख्याल रखते हुए हमने फैसला लिया है कि फिलहाल लॉकडाउन की शर्तों में कोई ढिलाई नहीं दी जाएगी. एक हफ्ते बाद हम दोबारा विशेषज्ञों के साथ बैठकर इसका मूल्यांकन करेंगे और जरूरत पड़ी तो ढिलाई दे सकते हैं.


मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि लॉकडाउन की वजह से देश में अभी भी महामारी विकराल रूप नहीं धारण कर पाई है. साथ ही उन्होंने कहा कि हम भी चाहते हैं कि लॉकडाउन खोला जाए लेकिन ऐसा कर नहीं सकते. सीएम ने साफ किया कि फिलहाल दिल्ली में लॉकडाउन में किसी प्रकार की कोई छूट नहीं है. एक हफ्ते के बाद दोबारा से से जांच के बाद इस पर फैसला लिया जाएगा. सीएम केजरीवाल ने कहा, केंद्र सरकार का कहना है कि जो हॉट स्पॉट और कंटेनमेंट जोन हैं उनमें ढील फिलहाल नहीं दी जानी चाहिए.

बता दें कि दिल्ली में 11 जिले हैं और 11 के 11 जिले हॉट स्पॉट घोषित किए गए हैं. केंद्र सरकार के मुताबिक कंटेनमेंट जोन में ढील नहीं दी जा सकती है. सीएम ने कहा कि आज की तारीख में दिल्ली में 77 कंटेनमेंट जोन हैं. बता दें कि इससे पहले शनिवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना वॉरियर्स के लिए बड़ी घोषणा की.

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित किसी मरीज का इलाज करने या उसकी किसी दूसरी तरह से मदद करने पर संक्रमित हो जाने के कारण अगर किसी की मौत हो जाती है, तो उसके परिजनों को दिल्ली सरकार की ओर से एक करोड़ रुपये की सहायता राशि दी जाएगी. उन्होंने कहा कि मेडिकल कर्मियों के अलावा भी जो कर्मचारी इस समय दिन-रात लोगों की मदद कर रहे हैं, अगर उन्हें कुछ होता है तो मृत्यु के बाद उनके परिवार को एक करोड़ रुपये की सहायता राशि दी जाएगी.

इस के साथ केजरीवाल ने लॉकडाउन के दौरान लोगों से घरों में रहने की अपील की है. बता दें कि राजधानी दिल्ली में अब तक कोरोनो के कुल 1,893 मामले सामने आ चुके हैं, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि, हमारे पास 42,000 रैपिड टेस्टिंग किट आ चुकी हैं, आज उसका ट्रायल LNJP अस्पताल में किया जा रहा है. 7,000 ट्रेनिंग भी की जा रही हैं और कल से पूरी दिल्ली के हॉट स्पॉट इलाकों में इनसे टेस्टिंग की जाएगी.

इस के साथ केजरीवाल ने लॉकडाउन के दौरान लोगों से घरों में रहने की अपील की है. बता दें कि राजधानी दिल्ली में अब तक कोरोनो के कुल 1,893 मामले सामने आ चुके हैं, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि, हमारे पास 42,000 रैपिड टेस्टिंग किट आ चुकी हैं, आज उसका ट्रायल LNJP अस्पताल में किया जा रहा है. 7,000 ट्रेनिंग भी की जा रही हैं और कल से पूरी दिल्ली के हॉट स्पॉट इलाकों में इनसे टेस्टिंग की जाएगी.

कोरोना वायरस के बाद भारत समेत दुनिया के कई देशों को एक और बड़ी टेंशन दे रहा चीन

कोरोना वायरसः एक और पुलिस अधिकारी की कोविड-19 से मौत, लुधियाना के ACP ने कल तोड़ा था दम

कोरोना वायरस का कहर, एक ही परिवार के 31 लोग हुए कोविड-19 पॉजिटिव, इलाके में मचा हड़कंप

First published: 19 April 2020, 15:12 IST
 
अगली कहानी