Home » इंडिया » Lockdown: Struggle to reach home: 300 people were being carried in two trucks
 

लॉकडाउन: घर पहुंचने की जद्दोजहद, दो ट्रकों में भरकर ले जाए जा रहे थे 300 लोग

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 March 2020, 10:21 IST

कोरोना वायरस (coronavirus) महामारी के बाद भारत में किये गए 21 दिन के लॉकडाउन ने लोगों को अपने घरों को लौटने पर मजबूर कर दिया है लेकिन लोगों को यातायात बंद होने के कारण परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. महाराष्ट्र के यवतमाल में दो ट्रकों से पुलिस ने तीन सौ ऐसे लोगों को को बरामद किया है. जबकि हजारों लोग एक खाली रेलवे ट्रैक पर चल रहे थे. हताश प्रवासी मजदूरों की इसी तरह की कई कहानियां सामने आ रही हैं.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार महाराष्ट्र के यवतमाल में पुलिस ने तेलंगाना के साथ राज्य की सीमा पर एक पुलिस चेक-पोस्ट पर नियमित निरीक्षण के दौरान प्रवासियों वाले ट्रकों को पकड़ा. यवतमाल के पुलिस अधीक्षक एम. राजकुमार ने कहा कि चालकों ने राजस्थान में आवश्यक सामान ले जाने का दावा किया था.

हालांकि जब पुलिस और राजस्व अधिकारियों ने ट्रकों की जांच की, तो उन्होंने कई सौ लोगों को अंदर बैठे पाया. उन्होंने कहा ये मुख्य रूप से हैदराबाद से राजस्थान के विभिन्न हिस्सों में लौट रहे निर्माण श्रमिक हैं.  रेलवे ट्रैक में अवैध रूप से यात्रा करने वाले मजदूरों की तस्वीरें उत्तर प्रदेश से भी आयीं हैं.

ANI के अनुसार दिल्ली से भी बड़ी संख्या में डेली वेज वर्कर उत्तर प्रदेश के नजदीकी जिलों में अपने घरों के लिए रिंग रोड पर चलते दिखाई दे रहे हैं.उनका कहना है "सरकार हमारे लिए आश्रय और भोजन की व्यवस्था कर रही है, लेकिन हमारे यहां कोई काम नहीं है. हम अपने परिवारों को पैसे कैसे भेजेंगे और उनकी देखभाल करेंगे?"

एक विशेष ट्रेन कानपुर रेलवे स्टेशन पर महाराष्ट्र के नासिक से लगभग 200 व्यक्तियों को उनके गृह राज्य उत्तर प्रदेश ले गई. सभी यात्रियों को स्टेशन पर स्क्रीन किया गया और उनके हाथों पर अमिट स्याही के साथ 14-दिवसीय क्वारेन्टीन लिखा गया.

अब अमेरिका बना कोरोना वायरस का नया हॉटस्पॉट, सामने आये सबसे ज्यादा मामले

First published: 27 March 2020, 10:13 IST
 
अगली कहानी