Home » इंडिया » Lok Sabha Election 2019: Amarpal Sharma joins BSP again, he alleged Mayawati taking crores for ticket
 

बाहुबली नेता ने मायावती पर लगाया था करोड़ों रुपये लेकर टिकट देने का आरोप, अब उसी पर हुईं मेहरबान

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 January 2019, 14:14 IST

2019 लोकसभा चुनाव से पहले पार्टी बदलने का सिलसिला चालू हो गया है. बीएसपी सुप्रीमा मायावती पर करोड़ों रुपये लेकर टिकट देने का आरोप लगाने वाले बाहुबली नेता पर पार्टी एक बार फिर मेहरबान हो गई है. नोएडा के बाहुबली नेता अमरपाल शर्मा एक बार फिर से बीएसपी में शामिल हो गए हैं. इस बाहुबली विधायक ने पूर्व में मायावती पर टिकट के लिए करोड़ों रुपये की सौदेबाजी के आरोप लगाए थे.

अमरपाल शर्मा ने गाजियाबाद में शनिवार को एक बार फिर बसपा पार्टी ज्वाइन कर ली है. चर्चा है कि बसपा अब उन्हें शामिल कर इनाम देने के साथ लोकसभा चुनाव में प्रत्याशी भी बना सकती है. अमरपाल शर्मा साहिबाबाद से बसपा के पूर्व विधायक रह चुके हैं. शनिवार को बीएसपी और सपा की संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस हुई, तो शाम को अमरपाल शर्मा ने भी बसपा का दामन थाम लिया.

पढ़ें- प्रयागराज: पहले स्नान पर ही हादसे का शिकार हुआ कुंभ मेला, दिगंबर अखाड़े में लगी भीषण आग

अमरपाल शर्मा से जब पूछा गया कि उन्होंने बीएसपी से निकाले जाने पर 5 करोड़ रुपए में टिकट बेचे का आरोप लगाया था. साल 2017 के विधानसभा चुनाव के दौरान पूरे मीडिया के सामने बीएसपी पर चिल्ला चिल्लाकर आरोप लगाने वाले अमरपाल शर्मा ने कहा कि वह हमेशा बीएसपी के ही रहे हैं. उन्होंने कहा कि उन्होंने कांग्रेस का दामन कभी थामा ही नहीं.

अमरपाल शर्मा ने यहां तक कह दिया कि उन्होंने बीएसपी या मायावती पर कोई आरोप नहीं लगाया था. उन्होंने कहा कि उनके आरोप नसीमुद्दीन सिद्दीकी पर थे. बहरहाल अमरपाल शर्मा के विरोधियों का कहना है कि वह लोकसभा चुनाव में ताल ठोकने के पूरे मूड में हैं. इस वजह से सपा-बसपा गठबंधन के बाद ही उन्होंने बीएसपी ज्वाइन किया है. साफ तौर पर जाहिर है कि अमरपाल शर्मा मौके की फिराक में थे.

पढ़ें- कर्नाटक में बड़ा राजनीतिक उलटफेर ! कांग्रेस-JDS की सरकार गिराकर सत्ता पर काबिज हो सकती है BJP

गौरतलब है कि 17 जनवरी 2017 को पूर्व बसपा विधायक अमरपाल शर्मा को बहुजन समाज पार्टी ने निष्कासित कर दिया था. कुछ ही घंटों बाद अमरपाल शर्मा ने बसपा सुप्रीमो पर टिकट के लिए करोड़ों की सौदेबाजी का आरोप लगाया था. उन्होंने बाकायदा प्रेस वार्ता कर बसपा सुप्रीमो मायावती पर जमकर हमला भी बोला था. उन्होंने कहा था कि टिकट के लिए रुपए नहीं दिये तो उन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया गया.

First published: 14 January 2019, 14:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी