Home » इंडिया » Lok sabha election 2019: BJP alliance shivsena leader sanjay raut statement maharashtra code of conduct
 

शिवसेना नेता संजय राउत के बिगड़े बोल, कहा- 'भाड़ में गया कानून, आचार संहिता को भी हम देख लेंगे': Video

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 April 2019, 13:25 IST

देश में जैसे-जैसे चुनावी पारा चढ़ रहा है नेताओं की बद्जुबानियां भी बढ़ती जा रही है. एक तरफ आज़म खान द्वारा बीजेपी प्रत्याशी जया प्रदा को लेकर दिए गए कथित विवादित बयान से सियासी घमासान मचा हुआ है. तो दूसरी तरफ बीजेपी की सहयोगी शिव सेना के बड़े नेता संजय राउत ने कानून और चुनाव आयोग को खुली चुनैती दे डाली.

चुनाव प्रचार के दौरान नेताओं और प्रत्याशियों को हमेशा डर रहता है कि कहीं आचार संहिता का उल्लंघन न हो जाए. चुनाव आयोग हर वक्त इन चुनावी भाषणों पर निगरानी रखता है और इसके उलंघन पर उचित कार्रवाई भी करता है. लेकिन शिवसेना के नेता संजय राउत ने अपने एक भाषण में कहा कि भाड़ में गया कानून, आचार संहिता को भी हम देख लेंगे.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 14 अप्रैल को एक भाषण में संजय राउत ने कहा कि वैसे तो हम कानून मानने वाले लोग हैं, लेकिन चुनाव के समय हमारे ऊपर एक दबाव बना रहता है कि जाने-अनजाने में कहीं आचार संहिता का उल्लंघन ना हो जाए.

इसी चुनावी सभा में राउत ने कहा, ‘'भाड़ में गया कानून, आचार संहिता भी हम देख लेंगे. जो बात हमारे मन में है, वो अगर मन से बाहर न निकले तो घुटन जैसी होती है.’’

गौरतलब है कि प्रचार के दौरान चुनाव आयोग हर नेता, प्रचारक के भाषणों पर नजर रखता है. आचार संहिता के अंतर्गत चुनाव प्रचार के दौरान कुछ नियम तय किए जाते हैं, जिसका पालन प्रत्येक नेता और प्रत्याशी को करना होता है.

चुनाव प्रचार करने के दौरान नेता अति उत्साह में आ जाते हैं और भीड़ में जोश लाने के लिए कुछ उल्टा बयान दे देते हैं जिसका गलत संदेश वोटरों और समाज तक जाता है. इस साल ही कई ऐसे बयान दिए गए हैं जिससे आचार संहिता का उल्लंघन हुआ और चुनाव आयोग ने उन्हें फटकार भी लगाई है. हाल ही में उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ और बसपा प्रमुख मायावती को उनके विवादित बयान के लिए आयोग ने उन्हें नोटिस भेजा था.

First published: 15 April 2019, 13:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी