Home » इंडिया » Lok Sabha Election 2019: BJP offers to Himanta Biswa Sarma that choose any seat in country
 

कौन है BJP का यह नेता जिससे अमित शाह ने कहा- 'देश की कोई भी लोकसभा सीट चुन लो.. टिकट दे देंगें'

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 March 2019, 12:10 IST

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए भारतीय जनता पार्टी आज अपने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी करने जा रही है. इसमें कई सांसदों के टिकट कट सकते हैं. वहीं बीजेपी का एक ऐसा नेता भी है जिसे पार्टी ने देश की कोई भी लोकसभा सीट चुनने का ऑफर दिया है. इस नेता का नाम है हेमंत बिस्व शर्मा.

जहां एक तरफ भारतीय जनता पार्टी में बड़े-बड़े दिग्गज टिकट के लिए पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के सामने लाइन लगाए हुए हैं वहीं खुद हेमंत बिस्व शर्मा को पार्टी की तरफ से ये कह दिया गया कि 'आप देश की कोई भी लोकसभा सीट चुन लो आपको वहां से टिकट दे देंगे.' सिर्फ यह लाइन ही इस नेता का राजनीतिक वजन बताने के लिए काफी है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, असम बीजेपी के अध्यक्ष रणजीत दास ने बताया कि पार्टी ने उनसे कहा है कि पार्टी चाहती है कि हेमंत बिस्व शर्मा देश की कोई भी संसदीय सीट चुन सकते हैं. रणजीत दास ने कहा कि पार्टी का यह निर्णय कमाल का है.

कौन है हेमंत बिस्व शर्मा

नॉर्थ ईस्ट राज्यों में अगर आज बीजेपी दिखाई देती है तो उसमें इस नेता का सबसे अहम रोल है. बड़ी बात यह है कि वह कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आए हैं. इसके पीछे एक कहानी बड़ी प्रचलित है. कहा जाता है कि वह राहुल गांधी से मिलने गए थे लेकिन राहुल गांधी अपने कुत्ते को बिस्किट खिला रहे थे और मिलने का समय नहीं दिया. इसके बाद हेमंत अपनी खीझ मिटाने के लिए भाजपा में शामिल हुए और आज लगभग पूरे नॉर्थ-ईस्ट में भाजपा की तूती बोल रही है.

हेमंत 23 साल तक कांग्रेस में रहे हैं और असम के शिक्षा, स्वास्थ्य और वित्त मंत्री भी रहे हैं. वर्तमान में वह असम की भाजपा सरकार में वित्त मंत्री हैं. करीब 15 साल तक तरूण गोगोई के नेतृत्व वाली तत्कालीन कांग्रेस सरकार में मंत्री हेमंत ने साल 2015 में भाजपा ज्वाइन की. इसके बाद सबसे पहले असम में सर्वानंंद सोनेवाल के साथ मिलकर भाजपा की सरकार बनवाई.

फिर नॉर्थ-ईस्ट के अन्य राज्यों में भी भाजपा सरकार बनवाने में महती भूमिका निभाई. यही वजह है कि पार्टी ने उन्हें टिकट को लेकर इतना बड़ा ऑफर दिया है. बीजेपी में शामिल होने के बाद उन्होंने कहा था कि अमित शाह राजनीति में स्नातकोत्तर के छात्र हैं और राहुल गांधी नर्सरी कक्षा में हैं. फिलहाल वह असम की तेजपुर सीट से लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं.

First published: 16 March 2019, 12:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी