Home » इंडिया » Lok Sabha Election 2019 Election commission declared date of these five states assembly election date with lok sabha election today
 

लोकसभा के साथ इन पांच राज्यों में हो सकते हैं विधानसभा चुनाव, आज हो सकता है ऐलान

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 March 2019, 16:11 IST

चुनाव आयोग आज लोकसभा चुनावों के लिए अधिसूचना जारी कर सकता है. जानकारी के मुताबिक चुनाव आयोग आज शाम पांच बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस में चुनाव की तारीखों का एलान कर सकता है. ऐसा माना जा रहा है कि चुनाव आयोग लोकसभा के साथ पांच राज्यों में इस साल होने वाले चुनावों की तारीखों का भी आज ही एलान कर सकता है. जो संभवतः लोकसभा चुनावों के साथ ही हो सकते हैं.

बता दें कि इसी साल 18 जून को आंध्र प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल पूरा हो रहा है वहीं अरुणाचल प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल भी जून के पहले हफ्ते पूरा हो जाएगा. इसके साथ ही सिक्किम विधानसभा का कार्यकाल 27 मई और ओडिशा विधानसभा का कार्यकाल 11 जून को समाप्त हो रहा है.सूत्रों के मुताबिक तारीखों की घोषणा में इसलिए वक्त लग रहा है क्योंकि आम चुनाव के साथ जम्मू-कश्मीर राज्य में विधानसभा चुनाव कराने को लेकर भी विचार चल रहा है.

बता दें कि ओडिशा में पिछली बार अप्रैल 2014 में विधानसभा चुनाव संपन्न हुए थे. ये चुनाव दो चरण में संपन्न कराए गए थे. जिसमें बीजू जनता दल को बहुमत मिला था और नवीन पटनायक को मुख्यमंत्री बनाया गया था. बता दें कि ओडिशा में विधानसभी की 147सीटें हैं जिनमें बीजू जनता दल ने 117 पर जीत मिली थी वहीं कांग्रेस के खाते में केवल 16 सीटें आई थी. केंद्र की सत्ता में काबिज बीजेपी को यहां मात्र 10 सीटें जीतकर ही संतुष्ट होना पड़ा था.

इसके अलावा सिक्किम विधानसभा के लिए12 अप्रैल 2014 को वोट डाले गए थे. 32 विधानसभा सीटों वाले इस राज्य में 22 सीटें जीत कर सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट ने जीत हासिल की थी. सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा के हिस्से में 10 सीटें आई थीं. यहां सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट के पवन कुमार चामलिंग मुख्यमंत्री हैं.

Lok Sabha Election 2019: लोकसभा चुनाव की तारीखों का आज ऐलान, शाम पांच बजे होगी प्रेस कॉन्फ्रेंस

वहीं जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव 25 नवंबर और 20 दिसंबर 2014 तक पांच चरणों में कराए गए थे. 87 विधानसभा सीटों वाले इस राज्य में पीडीपी को 28 सीटें मिली थी और बीजेपी ने 25 सीटें जीतकर गठबंधन की सरकार बनाई थी. यहीं 19 जून 2018 तक महबूबा मुफ्ती मुख्यमंत्री रहीं. लेकिन अब यहां राज्यपाल शासन लागू है.

अरुणाचल प्रदेश की अगर बात करें तो पूर्वोत्तर के इस राज्य में विधानसभा के लिए 9 अप्रैल, 2014 को वोट डाले गए थे. 60 विधानसभा सीटों वाले इस राज्य में कांग्रेस ने 42 सीटों पर जीत दर्ज कर सरकार बनाई थी. वहीं बीजेपी के खाते में मात्र 11 सीटें गई थीं.

वहीं आंध्र प्रदेश विधानसभा के लिए 7 मई 2014 को चुनाव हुआ था. 175 सीटों पर जीत हासिल कर तेलुगु देशम पार्टी ने सरकार बनाई थी और एन. चंद्रबाबू नायडू राज्य के मुख्यमंत्री बने थे.

CISF के 50वें स्थापना दिवस कार्यक्रम में शामिल होने गाजियाबाद पहुंचे पीएम मोदी

First published: 10 March 2019, 16:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी