Home » इंडिया » Lok Sabha Election 2019: Priyanka Gandhi meets Bhim Army chief Chandrashekhar in Meerut hospital
 

चंद्रशेखर से हॉस्पिटल में मिलने के लिए मायावती के पास समय नहीं, प्रियंका ने उठाया मौके का फायदा !

आदित्य साहू | Updated on: 13 March 2019, 19:10 IST

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मेरठ के अस्पताल में जाकर भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर रावण से मुलाकात की. इस दौरान प्रियंका ने कहा कि बीजेपी सरकार युवाओं की आवाज दबा रही है. प्रियंका गांधी ने कहा कि ये अहंकारी सरकार है. यह युवाओं की आवाज कुचलना चाहती है. ये नौजवान हैं, रोजगार तो सरकार ने दिया नहीं, अगर संघर्ष कर रहे हैं तो करने दीजिए.

प्रियंका ने कहा कि ये सरकार नौजवान की आवाज उठाना नहीं चाहती है. प्रियंका ने ये भी कहा कि यहां आना उनका कोई राजनीतिक कारण नहीं है. हालांकि प्रियंका के उनसे जाकर मिलने से अटकलें तेज हो गई हैं कि क्या चंद्रशेखर भी कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण करेंगे या कांग्रेस से गठजोड़ करेंगे.

बता दें कि चंद्रशेखर ने बुधवार को ऐलान किया था कि वे अगला आम चुनाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ लड़ेंगे. प्रियंका से मिलने के बाद चंद्रशेखर ने भी कहा कि बहन प्रियंका गांधी मुझसे मिलने आई थीं. प्रियंका ने उनकी तबीयत के बारे में जाना. वह बहुजन समाज में पैदा हुए हैं और बहुजन समाज में ही मरेंगे. 

चंद्रशेखर ने कहा कि वह मोदी जी को हराएंगे और उन्हें गुजरात भेजेंगे. वह गठबंधन को समर्थन देंगे. गौरतलब है कि एक समय चंद्रशेखर को बीएसपी सुप्रीमो मायावती के लिए खतरा बताया जाने लगा था. भीम आर्मी के आंदोलन के बाद उनकी लोकप्रियता दलितों में काफी बढ़ गई थी.

चंद्रशेखर ने भी बयान दिया था कि मायावती को उनसे राजनीतिक रूप से डरने की कोई वजह नहीं है. उन्होंने कहा कि बहन जी की तरफ कोई उंगली उठाएगा तो वह उसका हाथ काट लेंगे. चंद्रशेखर ने उनको बुआ जी कहा था. लेकिन मायावती ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा था कि मेरा कोई भतीजा नहीं है और मैं किसी रावण को नहीं जानती.

First published: 13 March 2019, 19:08 IST
 
अगली कहानी