Home » इंडिया » Lok Sabha Election 2019: Priyanka Gandhi Vadra will take help of Bihar Paper Leak accused in UP
 

प्रियंका गांधी UP में अपने पैर जमाने के लिए लेंगी बिहार पेपर लीक केस के आरोपी की मदद

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 February 2019, 14:10 IST

प्रियंका गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूर्वी यूपी का प्रभारी बनाया है. उनका जिम्मा 2019 लोकसभा चुनाव से पहले यूपी में कांग्रेस की खोई जमीन हासिल करवाना है. 80 लोकसभा सीटों वाले यूपी में 42 सीटों की जिम्मेदारी पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी को सौंपी गई है. फिलहाल उन्हें लेकर एक ऐसी खबर आ रही है जिसके कारण कांग्रेस पार्टी को आलोचनाओं का सामना करना पड़ सकता है.

दरअसल, कांग्रेस ने प्रियंका गांधी वाड्रा के पांव यूपी में जमाने के लिए एक ऐसे शख्स की मदद ली है जो बिहार पेपर लीक केस का आरोपी है. यहां तक कि उस शख्स ने खुद कबूला था कि वह बिहार पेपर लीक मामले का आरोपी है. इस मामले में उसे कांग्रेस से निष्कासित भी किया जा चुका है. 

पढ़ें- गठबंधन के बाद भी शिवसेना ने दिखाई आंख, कहा- ..तो BJP नहीं NDA तय करेगा प्रधानमंत्री

बिहार यूथ कांग्रेस के उपाध्यक्ष रहे कुमार आशीष को साल 2005 में इंटरमीडिएट की परीक्षा का पेपर  लीक करने का आरोपी बनाया गया था. उन्होंने अपना गुनाह कबूल भी किया था. प्रियंका गांधी की मदद के लिए कांग्रेस ने तीन लोगों को सचिव बनाया है. इन तीन नामों में जुबैर खान, कुमार आशीष और बाजीराव खाड़े हैं. राहुल गांधी ने मंगलवार को इन तीनों को AICC का सचिव नियुक्त किया है.

पढ़ें- जब सऊदी प्रिंस ने इस मशहूर मॉडल को एक रात के लिए दिया था 71 करोड़ का ऑफर !

इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक, कुमार आशीष को 2005 में इंटरमीडिएट परीक्षा का पेपर कथित तौर पर लीक करने के आरोप में कांग्रेस ने निष्कासित कर दिया था. लेकिन बाद में उनकी कांग्रेस में वापसी हो गई थी. साल 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव में उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर बांकीपुर सीट से चुनाव लड़ा था लेकिन बीजेपी उम्मीदवार ने उन्हें हरा दिया था.

First published: 20 February 2019, 14:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी