Home » इंडिया » lok sabha election 2019 rahul gandhi called masood azhar ji
 

आतंकी मसूद को 'जी' बोल गए राहुल, BJP और कांग्रेस के नेता इससे पहले भी कर चुके हैं ये गलतियां

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 March 2019, 8:41 IST

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दिल्ली में हुए कांग्रेस बूथ कार्यक्रम में एक बयान दिया था, जिसे बीजेपी ने मुद्दा बना लिया. राहुल गांधी इस कार्यक्रम में पुलवामा हमले और मसूद अजहर के मुद्दे को लेकर बीजेपी पर तंज कस रहे थे. इसी दौरान उनके मुंह से आतंकी मसूद अजहर के लिए अजहर जी... निकल गया. इस बयान के बाद बीजेपी ने ट्वीट कर राहुल गांधी पर तंज कसा.

इस कार्यक्रम में राहुल गांधी ने कहा, "पुलवामा में बस में किसने बम फोड़ा, जैश ए मोहम्मद, मसूद अजहर. 56 इंच छाती वाले, पिछली सरकार में एयरक्राफ्ट में मसूद अजहर जी के साथ बैठकर, जो आज एनएसए हैं, अजीत डोभाल मसूद अजहर को कंधार में हवाले करके आ गए थे."

इस बयान के बाद बीजेपी ने राहुल गांधी पर तंज कसते हुए लिखा, "देश के 44 वीर जवानों की शहादत के लिए जिम्मेदार आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना के लिए राहुल गांधी के मन में इतना सम्मान! #RahulLovesTerrorists"

बीजेपी द्वारा शेयर किए गए वीडियो को देखकर ऐसा लगता है, जैसे राहुल अचानक बयानबाजी में मसूद को जी बोल गए. कार्यकर्ताओं को अपने संबोधन के दौरान पहली बार उन्होंने मसूद अजहर कहा, दूसरी बार 'मसूद अजहर जी' और तीसरी बार फिर मसूद अजहर कहा.

 

बता दें कि इससे पहले भी कांग्रेस और बीजेपी के नेता आतंकियों को यकायक में बयानबाजी के दौरान जी बोल चुके हैं. साल 2013 में दिग्विजय सिंह ने आतंकी सगंठन 'जमात-उद-दावा ' के मुखिया हाफिज सईद को 'साहब' कहा था. उस दौरान भी उनके इस बयान की काफी आलोचना हुई थी. वहीं, एक साल पहले बीजेपी के नेता रविशंकर प्रसाद ने भी आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयाब के सह-संस्थापक और मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को 'जी' बोला था.

वहीं, कुछ साल पहले दिग्विजय सिंह ने आतंकी ओसामा बिल लादेन को 'जी' बोला था.उस वक्त दिग्विजय सिंह ने कहा था कि पाकिस्तान के मिलिट्री अकादमी से 100 गज दूर पर ओसामा जी कई वर्षों से रह रहे थे. पाकिस्तानी आर्मी और सरकार क्या कर रही थी इस पर प्रश्नचिन्ह लग रहे हैं. कहीं ऐसा तो नहीं है कि नेताओं की आदत में ही 'जी' और हांजी शुमार हो गया हो!

गुरुग्राम में हाफिज सईद के पैसों से खरीदा गया विला सीज, हवाला के जरिए आई थी रकम

First published: 12 March 2019, 8:41 IST
 
अगली कहानी