Home » इंडिया » Lok Sabha Election 2019: SP BSP alliance is fake in Uttar Pradesh says deputy cm Dinesh Sharma
 

'यूपी में मायावती-अखिलेश का गठबंधन बिल्ली-चूहा, और सांप-नेवले का महागठबंधन है'

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 January 2019, 12:10 IST

2019 लोकसभा चुनाव से पहले सारी पार्टियों ने जीत के लिए दांव लगाना शुरू कर दिया है. यूपी में सपा-बसपा का गठबंधन बन गया है. इसके साथ ही सपा-बसपा गठबंधन पर बीजेपी ने निशाना साधना शुरू कर दिया है. बीजेपी का कहना है कि यह गठबंधन नकली है. बीजेपी का कहना है कि देश में मोदी जी के काम की बाढ़ आयी हुई है, इसलिए ये सब एक हुए है.

यूपी के उप-मुुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने सपा-बसपा गठबंधन को चूहा-बिल्ली और सांप-नेवले का गठबंधन तक करार दे दिया. दिनेश शर्मा ने कहा, "एक पेड़ पर बिल्ली, नेवला, सांप, चूहा सब एक साथ बैठे हुए थे. चार विरोधी लोग एक साथ बैठे हुए हैं. किसी बुजुर्ग ने बताया कि नदी में बाढ़ आयी इसलिए पेड़ पर बैठे हुए हैं. जैसे ही बाढ़ समाप्त होगी तो बिल्ली चूहे को खा जाएगी और नेवला सांप को खा जाएगा. सब एक दूसरे को खा जाएंगे."

पढ़ें- लोकसभा चुनाव से पहले बिखरने की कगार पर ममता बनर्जी की पार्टी, 6 सांसद थामेंगेेे BJP का दामन

दिनेश शर्मा आगरा में एक रैली को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि मैं किसी की तुलना किसी जानवर से नहीं कर रहा. लेकिन देश में बीजेपी और मोदी जी के काम की बाढ़ आयी हुई है, इसलिए ये सब एक हुए है. 

बता दें कि इससे पहले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने साल 2018 के अप्रैल महीने में बीजेपी के स्थापना दिवस पर मुंबई में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए ऐसा ही बयान दिया था. शाह ने कहा था, "मैंने एक कहानी सुनी थी, जब बहुत बड़ी बाढ़ आती है और सारे वृक्ष, पेड़, पौधे पानी में वह जाते हैं और सिर्फ एक वट वृक्ष बच जाता है. ऐसे में सांप भी उस वट वृक्ष पर चढ़ जाता है, नेवला भी चढ़ जाता है, बिल्ली भी चढ़ जाती है, कुत्ता भी चढ़ जाता है, चीता भी चढ़ जाता है क्योंकि नीचे पानी का डर है."

पढ़ें- अयोध्या विवाद: सुनवाई से पीछे हटे जस्टिस ललित, 29 जनवरी को बैठेगी नई बेंच, तब होगी सुनवाई

उन्होंने आगे कहा था, "मोदी जी की जो बाढ़ आयी है, इसके डर से सांप, नेवला, कुत्ता, बिल्ली सब इकट्ठा होकर चुनाव लड़ने का काम कर रहे हैं. हमारे नेता नरेंद्र मोदी दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता है, उनके नेतृत्व में 2019 का चुनाव जीतना है."

First published: 10 January 2019, 12:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी