Home » इंडिया » Lok Sabha Election Result 2019 BJP won more than 300 seat in general election
 

कई रिकॉर्ड के साथ दोबार पीएम बनेंगे मोदी, बीजेपी ने अपने दम पर जीतीं 300 से ज्यादा सीट

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 May 2019, 9:15 IST

17वीं लोकसभा के लिए हुए बीजेपी को देश की जनता ने प्रचंड बहुमत दिया है. इसी के साथ पीएम मोदी एक बार फिर से देश की बागडोर संभालेंगे. बीजेपी ने 2014 के अपने ही रिकॉर्ड को तोड़ते हुए तीन सौ से अधिक सीट जीत ली. जो अपने आप में बीजेपी के लिए एक ऐतिहासिक जीत है. साथ ही बीजेपी पहली ऐसी गैर-कांग्रेसी पार्टी बन गई जो लगातार दूसरी बार रिकॉर्ड वोटों से जीत हासिल कर केंद्र में दोबारा सरकार बना रही हैै.

विपक्ष के जातिवाद और तुष्टिकरण की राजनीति से ऊच चुके मतदाताओं ने इस बार बीजेपी के राष्ट्रवाद को पूर्व बहुमत देकर एक बार फिर से सत्ता तक पहुंचा दिया. जिसमें सबसे बड़ा योगदान पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का रहा है. वहीं दूसरी ओर केंद्र की सत्ता से दूर होती जा रही कांग्रेस को दूसरी बार बुरी तरह से हार का सामना करना पड़ा. और इस बार भी कांग्रेस नेता प्रतिपक्ष के लिए जरूरी आंकड़े तक नहीं पहुंच पाई.

बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में यह हार पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के नेतृत्व में शिकस्त से भी बुरी रही है. यही नहीं पांच महीने पहले तीन राज्यों में जीत हासिल करने के बाद भी कांग्रेस राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ भी कोई कमाल नहीं कर पाई. यही नहीं राजस्थान में कांग्रेस को बुरी तरह शिकस्त मिली और वहां 25 की 25 सीटें बीजेपी के खाते में चली गईं.

वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी पुश्तैनी सीट अमेठी से भी चुनाव हार गए. यही नहीं राहुल गांधी नेहरू-गांधी परिवार पहले ऐसे शख्स हैं जिन्हें अमेठी से हार का सामना करना पड़ा. वहीं दूसरी ओर बीजेपी ने उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा-रालोद गठबंधन के बावजूद बंपर जीत हासिल की. यही नहीं बीजेपी ने सपा मुखिया अखिलेश यादव के परिवार का गढ़ माने जाने वाली बदायूं, कन्नौज और फिरोजाबाद सीट पर भी कब्जा कर लिया.

कन्नौज से सपा मुखिया अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव को भी हार का सामना करना पड़ा. इसके अलावा अखिलेश के चचेरे भाई धर्मेंद्र यादव भी बदायूं से चुनाव हार गए. जब कि वह यहां से लगातार तीन बार बंपर वोटों से जीत हासिल कर लोकसभा पहुंचते रहे हैं. इसके अलावा फिरोजाबाद से अखिलेश के दूसरे चचेरे भाई अक्षय यादव भी चुनाव हार गए. दूसरी ओर बीजेपी ने 12 राज्यों में पचास फीसदी से अधिक वोट हासिल कर एक बार फिर से केंद्र की सत्ता तक पहुंच गई.

प्रचंड जीत मिलते ही पीएम मोदी सहित बीजेपी के इन नेताओं ने नाम के आगे से हटाया'चौकीदार'

First published: 24 May 2019, 9:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी