Home » इंडिया » loose for air india, Saudi Arabia Denies Report of Historic Approval of Flights to Israel Using Its Airspace
 

एयर इंडिया के लिए बुरी खबर, सऊदी अरब ने नहीं दी एयरस्पेस इस्तेमाल करने की इजाजत

आदित्य साहू | Updated on: 8 February 2018, 16:04 IST

देश की सरकारी एयरलाइंस कंपनी एयर इंडिया को एक बड़ी हार मिली है. सऊदी अरब ने एयर इंडिया को इजरायल के लिए अपने एयरस्पेस का इस्तेमाल करने की मंजूरी नहीं दी है. दरअसल एयर इंडिया इजरायल के लिए डायरेक्ट फ्लाइट शुरू करने जा रही है. इजरायल के पर्यटन मंत्रालय ने एयर इंडिया को इन उड़ानों के लिए एकमुश्त 750,000 यूरो देने की घोषणा की है.

सऊदी अरब से होकर अगर एयर इंडिया की फ्लाइट सीधे तेल अवीव पहुँचती है तो ऐसे में उसे आठ की जगह छह घंटे तथा ईधन की बचत होगी. इसी कारण पिछले महीने इजरायली प्रधानमन्त्री नेतान्याहू की भारत यात्रा पर एयर इंडिया ने इजरायल एयरलाइंस El Al के साथ एक कॉन्ट्रैक्ट पर हस्ताक्षर किए थे,  जिसमें दिल्ली और तेल अवीव के बीच सऊदी आसमान से गुजरने वाली सीधी उड़ानें शुरू होनी थी.

आरंभ में यह खबर सामने आई थी कि सऊदी अरब ने एयर इंडिया के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है, लेकिन जैसे-जैसे खबर सुर्ख़ियों में आई, इसके बाद से सऊदी मीडिया ने इस बात का खंडन करना शुरू कर दिया की सऊदी शासन ने ऐसे किसी प्रस्ताव को स्वीकार किया है.

दरअसल इजरायली अखबार हारेत्ज ने एक खबर लगाई थी कि, सऊदी अरब ने एयर इंडिया को इजरायल के तेल अवीव शहर की उड़ान के लिए अपने एयरस्पेस का इस्तेमाल करने की मंजूरी दे दी है. इसके बाद यह खबर भारतीय मीडिया में तेजी से चली थी. भारतीय मीडिया ने इसे एयर इंडिया और भारत की रणनीतिक जीत करार दिया था.

लेकिन कुछ ही घंटे बाद उसी इजरायली अखबार ने सऊदी अरब के एविएशन अधिकारी के हवाले से बताया कि सऊदी अरब ने एयर इंडिया को अपने एयरस्पेस इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं दी है.

देखें लिंक- Saudi Arabia Denies Report of Historic Approval of Flights to Israel Using Its Airspace

बता दें कि पिछले 70 सालों से इजरायल जाने वाली कमर्शियल उड़ानों के लिए सऊदी अरब अपना हवाई रास्ता नहीं देता रहा है. क्योंकि सऊदी अरब इजरायल को मान्यता नहीं देता है. इसलिए वह पिछले 70 सालों से अपने उड़ान क्षेत्र पर इजरायल जाने वाले विमानों को रास्ता नहीं देता है. इजरायल और सऊदी अरब दोनों ही अमेरिका के प्रमुख सहयोगी देशों में से हैं. लेकिन इन दोनों देशों के बीच ईरान से जुड़ी चिंताओं के चलते तनाव रहता है.

मीडिया में कहा गया था कि सऊदी अरब ने अपने हवाई क्षेत्र में भारतीय एयरलाइंस एयर इंडिया को उड़ान भरने की अनुमति दी है. इससे एयर लाइंस एक छोटा रास्ता लेकर अहमदाबाद, मस्कट, सऊदी अरब होते हुए अब तेल अवीव में अपने विमान उतार सकेगी.

इस मार्ग से दो शहरों के बीच की दूरी तय करने में महज ढाई घंटे लगेंगे. साथ ही ईंधन की भी भारी बचत होगी. फिलहाल मुंबई से तेल अवीव की उड़ान भरने वाली इजरायल की एलएआइ उड़ानों में सात से आठ घंटे का लंबा समय लगता है. यह विमान लाल सागर से होते हुए अदन की खाड़ी से होकर तब भारत में प्रवेश करता है. ताकि सऊदी अरब, अफगानिस्तान, यूएई, ईरान व पाकिस्तान और अन्य ऐसे देशों से गुजरने से बचा जा सके.

First published: 8 February 2018, 16:04 IST
 
अगली कहानी