Home » इंडिया » Lucknow: Samajwadi Party candidate Amar Singh, Beni Prasad Verma and five others file nomination for Rajya Sabha
 

राज्यसभा चुनाव: रामगोपाल यादव की मौजूदगी में अमर सिंह ने भरा पर्चा

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 May 2016, 15:40 IST
(प्रमोद अधिकारी)

राज्यसभा चुनाव के लिए अमर सिंह और बेनी प्रसाद वर्मा समेत समाजवादी पार्टी के सात उम्मीदवारों ने अपना नामांकन दाखिल किया है. खास बात ये है कि सपा नेता रामगोपाल यादव इस दौरान मौजूद रहे.

सपा के राज्यसभा प्रत्याशियों ने लखनऊ में विधान भवन के सेंट्रल हॉल में नामांकन भरा. पर्चा दाखिल करने वालों में अमर सिंह, बेनी प्रसाद वर्मा, संजय सेठ, रेवती रमण सिंह, सुखराम सिंह यादव, विशम्भर प्रसाद निषाद और सुरेन्द्र नागर शामिल हैं.

रामगोपााल से विरोध जगजाहिर

सपा के राज्यसभा सांसद रामगोपाल यादव की मौजूदगी में अमर सिंह का पर्चा भरना काफी चर्चा का विषय रहा. समाजवादी पार्टी में अमर सिंह की वापसी के रामगोपाल यादव कट्टर विरोधी रहे हैं, यही नहीं अमर सिंह की पार्टी से विदाई के पीछे रामगोपाल यादव और आजम खान की मुख्य भूमिका मानी जाती है.

पढ़ें: अमर की एंट्री पर आजम का तंज, 'मालिक' मुलायम का फैसला मंजूर

अमर सिंह ने भी पार्टी से निकाले जाने के बाद कई बार अपना दर्द बयां करते हुए रामगोपाल को निशाने पर लिया था. लेकिन माना जा रहा है कि सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव से मिले संकेतों के बाद रामगोपाल ने अब विरोध को दरकिनार कर दिया है.

अमर सिंह के पर्चा दाखिल करते वक्त कैबिनेट मंत्री और सपा के उत्तर प्रदेश प्रभारी शिवपाल यादव भी मौजूद रहे. वहीं नौ साल बाद सपा में वापसी करने वाले बेनी प्रसाद वर्मा ने भी अपना नामांकन दाखिल कर दिया है.

पढ़ें: राज्यसभा की रेवड़ियां सपाई कुनबे में शीतयुद्ध का कारण बनेंगी

कारोबारी सुरेंद्र नागर जाएंगे राज्यसभा

इसके अलावा अंतिम समय में अरविंद सिंह की जगह सुरेंद्र नागर को पार्टी से राज्यसभा का टिकट दिया गया. नागर के अलावा रियल एस्टेट कारोबारी संजय सेठ ने भी अपना पर्चा भरा. सुरेंद्र नागर भी कंस्ट्रक्शन के कारोबार से जुड़े हैं. वो पारस कंस्ट्रक्शन रियल एस्टेट कंपनी और पारस ब्रांड के दूध के कारोबार से जुड़े हैं.

अरविंद सिंह को अब विधान परिषद के लिए टिकट दिया गया है. इसके अलावा विधान परिषद के पूर्व सभापति सुखराम सिंह यादव, इलाहाबाद के पूर्व सांसद रेवती रमण सिंह और विशंभर प्रसाद निषाद ने भी राज्यसभा के लिए पर्चा दाखिल किया है.

पढ़ें: अमर-बेनी को राज्यसभा भेजेगी सपा, जातीय संतुलन साधने की कोशिश

11 जून को उत्तर प्रदेश से राज्यसभा की 11 सीटों के लिए चुनाव होगा. यूपी में एक राज्यसभा सीट पर जीत के लिए 37 विधायकों की जरूरत है. संख्याबल के लिहाज से सपा के छह उम्मीदवारों की जीत पक्की है, जबकि एक के लिए उसे मदद लेनी होगी. राज्यसभा चुनाव के लिए अधिसूचना 24 मई को जारी की गई थी. 

First published: 25 May 2016, 15:40 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी