Home » इंडिया » Made-in-India first semi high speed train to run from September
 

पीएम मोदी का आधा सपना होगा पूरा, चलने को तैयार है स्वदेशी सेमी हाई-स्पीड ट्रेन

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 July 2018, 10:40 IST

भले ही पीएम मोदी के बुलेट ट्रेन का सपना पूरा होने में अभी कुछ समय बाकि है. लेकिन मेक इन इंडिया अभियान के तहत भारत में ही बन कर तैयार हुई सेमी हाई-स्पीड ट्रेन सितंबर में पटरी पर उतर सकती है. मेक इन इंडिया अभियान के तहत इस ट्रेन को चेन्नई स्थित इंट्रीग्रल कोच फैक्ट्री में तैयार किया गया है.

इकॉनोमिक टाइम की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस ट्रेन-18 का कोड नाम दिया गया है. यह सेमी हाई-स्पीड ट्रेन 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती है. वहीं यह ट्रेन सितंबर महीने में पटरी पर उतर सकती है. इससे पहले इस ट्रेन के जुलाई महीने में ही चलने की उम्मीद जताई जा रही थी.

इस पर जब चेन्नई स्थित इंट्रीग्रल कोच फैक्ट्री के जनरल मैनेजर सुधांशु मणि से पूछा गया कि ट्रेन के संचालन में देरी की क्या वजह है. तो उन्होंने कहा कि यह कोई देरी नहीं है बल्कि अनुमानित समय में एक तरह से बदलाव जैसा है.

ये भी पढ़ें-इस शिकायत के बाद Ford अपनी 5,397 EcoSport कारों को वापस मंगाएगा

मणि ने कहा, "कोई देरी नहीं है. दुनिया में कहीं भी ऐसी ट्रेन को तैयार करने में 2 से 3 साल तक का वक्त लगता है, लेकिन हमने रिकॉर्ड 16 महीनों में ट्रेन को तैयार कर दिया. पहले इस ट्रेन को चलाने का समय हमने जुलाई तय किया था, लेकिन अब उम्मीद है कि सितंबर तक इसे पटरी पर उतार दिया जाएगा."

बता दें कि इस ट्रेन की खासियत यह है कि इसमें इंजन की जरूरत नहीं है और यह इलेक्ट्रिक लाइन पर मेट्रो की तरह खुद ही आगे बढ़ सकेगी. वहीं इस ट्रेन को शताब्दी एक्सप्रेस समेत मौजूदा इंटरसिटी एक्सप्रेस की जगह चलाया जाएगा.

ये भी पढ़ें-लगातार तीसरे दिन महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, ये हैं नई कीमतें

क्या हैं खूबियां

मेट्रो की तरह इस ट्रेन में ऑटोमेटिक डोर होंगे, जो खुद ही खुलेंगे और बंद भी होंगे. इसके अलावा ट्रेन में वाई-फाई और इन्फोटेनमेंट का पूरा इंतजाम.

First published: 7 July 2018, 10:40 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी