Home » इंडिया » Amarmani Tripathi's son Amanmani given ticket by Samajwadi Party
 

मधुमिता हत्याकांड में सजा काट रहे अमरमणि के बेटे अमनमणि को सपा ने दिया टिकट

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 October 2016, 13:08 IST
(फेसबुक)

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव करीब हैं. इस बीच समाजवादी पार्टी ने 14 पुराने उम्मीदवारों का टिकट काटते हुए 21 प्रत्याशियों की सूची जारी की है. खास बात यह है कि इस लिस्ट में सपा ने चर्चित मधुमिता शुक्ला हत्याकांड में आजीवन कारावास की सजा पा चुके सजायाफ्ता अमरमणि त्रिपाठी के बेटे अमनमणि त्रिपाठी को भी टिकट दिया है.

अमनमणि को सपा ने महाराजगंज जिले की नौतनवां सीट से उम्मीदवार बनाया है. सपा ने जिन सात नए उम्मीदवारों को टिकट दिया है उनमें अमरमणि त्रिपाठी का बेटा भी शामिल .

यूपी के पूर्व कैबिनेट मंत्री अमरमणि त्रिपाठी कवियत्री मधुमिता शुक्ला हत्याकांड में मौजूदा वक्त में जेल की सजा काट रहे हैं. सपा प्रदेश अध्यक्ष और यूपी चुनाव प्रभारी शिवपाल यादव ने 21 विधानसभा सीट पर प्रत्याशियों के नाम का एलान किया. 

अमनमणि का भी दागी अतीत

अमनमणि त्रिपाठी अपनी पत्नी सारा की संदिग्ध मौत के मामले में कठघरे में हैं. सारा की एक सड़क हादसे में मौत की बात सामने आई थी. हालांकि सारा के परिजनों का आरोप है कि उनकी बेटी की हत्या की गई और इसमें अमरमणि का बेटा और परिवार शामिल है.

पिछले साल उत्तर प्रदेश सरकार ने इस मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश की थी. सीएम अखिलेश यादव ने सारा की कथित दुर्घटना में मौत पर घरवालों के सवाल उठाने के बाद मामले की जांच सीबीआई के हवाले करने की सिफारिश केंद्र सरकार से की थी.

9 जुलाई 2015 को संदिग्ध मौत

नौ जुलाई 2015 को फिरोजाबाद जिले के सिरसागंज में सारा की मौत हो गई थी. सारा को अमनमणि कार से लखनऊ से दिल्ली ले जा रहे थे. अमनमणि ने पुलिस को बताया था कि कार तेज रफ्तार में थी, इसी दौरान वह डिवाइडर से टकराकर पलट गई.

हालांकि इस दौरान अमनमणि को मामूली खरोंचें आई थीं. जिसके बाद सारा के परिवार ने पूरे मामले पर शक जताते हुए इसे हत्या की वारदात करार दिया था. सारा की मां इस मसले पर सीएम अखिलेश यादव और सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव से भी मिली थीं. 

अमरमणि पर साजिश का आरोप

सारा की मां सीमा सिंह ने यह आरोप भी लगाया था कि मधुमिता हत्याकांड में उम्रकैद की सजा काट रहे अमरमणि त्रिपाठी ने सारा की हत्या की साजिश गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में रहते हुए रची.

सारा की मां का आरोप है मौत से करीब डेढ़ महीने पहले ही उनकी बेटी ने कहा था कि वह अमनमणि से तलाक लेना चाहती है, क्योंकि उसको रोज प्रताड़ित होना पड़ रहा है. सीमा सिंह ने ये आरोप भी लगाया था कि सारा की मौत के बाद अमरमणि ने उनको फोन किया था.

इनको भी टिकट

इसके अलावा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के करीबी माने जाने वाले अतुल प्रधान का भी टिकट कट गया है. आगामी चुनाव के लिए सरधना सीट से प्रधान की जगह मैनपाल सिंह उर्फ पिंटू राणा को टिकट दिया गया है.

गौरतलब है कि सरधना सीट से बीजेपी के संगीत सिंह सोम विधायक हैं. अतुल प्रधान और संगीत सोम की लंबे अरसे से प्रतिद्वंद्विता चली आ रही है. ऐसे में सीएम अखिलेश यादव प्रधान का टिकट काटने का विरोध करते हैं या नहीं यह गौर करने वाली बात होगी.

इसके अलावा सपा ने एनआरएचएम घोटाले में फंसे मुकेश श्रीवास्तव को बहराइच की पयागपुर, जयशंकर सिंह को नानपारा, संजय यादव को सोनभद्र के ओबरा, बुलंदशहर के डिबाई से हरीश लोधी, हरदोई के गोपामऊ (सुरक्षित) से राजेश्वरी, सांडी से ऊषा वर्मा, सहारनपुर के नकुड़ से मोहम्मद इरशाद और अंबेडकरनगर के जलालपुर से सुभाष राय को प्रत्याशी बनाया है.

इसके साथ ही सहारनपुर के रामपुर मनिहार से विमला राकेश की जगह जसवीर बाल्मीकि, शामली के थाना भवन से किशनपाल कश्यप की जगह अब शेर सिंह राणा को टिकट दिया गया है.

First published: 3 October 2016, 13:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी