Home » इंडिया » Madhya Pradesh Election 2018: Arun Jaitley release BJP Manifesto named Drishtipatra
 

MP चुनाव 2018: BJP का घोषणापत्र जारी, हर साल 10 लाख नौकरियों का किया वादा

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 November 2018, 15:28 IST

मध्य प्रदेश के चुनावी मैदान में भारतीय जनता पार्टी ने अपना घोषणा पत्र आज जारी कर दिया है. भाजपा ने मध्यप्रदेश चुनावों के लिए अपने इस घोषणा पत्र को दृष्टि पत्र के नाम से जारी किया. भोपाल में आज भारतीय जनता पार्टी ने वित्त मंत्री अरुण जेटली और केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान की उपस्थिति में अपना चुनावी घोषणा पत्रा जारी किया.

गौरतलाब है कि भोपाल में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान घोषणा पत्र जारी करने के तुरंत बाद ही चुनाव के लिए दो जगह आयोजित की गई रैलियों में शिरकत करेंगे. नीमच और मंदसौर की इन रैलियों को स्वयं सीएम शिवराज घोषित करेंगे. बीते साल मंदसौर को किसानों के आंदोलन का एक बड़ा केंद्र बनते हुए पाया गया था. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी किसानों के बीच यहां पर आ चुके हैं. यही एक बड़ा कारण है कि चुनावों में बीजेपी किसानों की मांगों को लेकर काफी सजगता बरत रही है.


मध्य प्रदेश के इस इलाके में चुनाव प्रचार का ये आखिरी चारण चल रहा है जिसे देखते हुए भाजपा में प्रधानमंत्री मोदी की कई रैलियों का आयोजन भी किया है. भारतीय जनता पार्टी किसानों को अपनी ओर मोड़ने के लिए हर तरह से प्रयास क्र रही है. इसी एक चलते बीजेपी का मानना है कि किसानों का रुख भाजपा की ओर मोड़ने में पीएम मोदी सफल हो सकते हैं.

मध्य प्रदेश चुनाव: आपस में ही भिड़े BJP विधायक और वरिष्ठ नेता, सरेआम दी मारपीट की धमकी

अपने घोषणा पत्र में चौथी बार सत्ता में अपनी धाक जमाने के लिए बीजेपी ने कई वादें किए हैं. सरकार ने युवाओं को हर साल 10 लाख रोजगार के अवसर पैदा कराने का वादा किया है. इसके साथ ही युवा उद्यमियों को स्टार्ट अप की सुविधाएं देने के साथ ही राज्य में नए इंडस्ट्रियल टाउनशिप स्थापित करने की भी बात कही.

वहीं सियासी माहौल के बीच सीएम शिवराज सिंह ने एक रैली में कांग्रेस पर राज्य को बर्बाद करने का आरोप लगाया था. वहीं शिवराज सिंह ने ये दावा भी किया कि उन्होएँ एक बीमारू राज्य को बड़ी की मुश्किल और परिश्रम के बाद विकसित राज्य बनाया है. इस मामले में कांग्रेस पर निशाना साधते हुए शिवराज ने कहा, ''कांग्रेस किसान, गरीब, तरक्की की विरोधी है, यदि यह प्रदेश गलती से भी उनके हाथ लगा, तो वे इसे फिर से बर्बाद कर देंगे.''

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में होने वाले चुनाव एक ही चरण में कराया जा रहा है. इसके लिए एमपी में 28 नवंबर को वोटिंग होनी है. प्रदेश के 53 जिलों में होने वाले चुनाव में विधानसभा की कुल 230 सीटें हैं. वोटिंग की गिनती 11 दिसंबर को की जाएगी.

First published: 17 November 2018, 12:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी