Home » इंडिया » Madhya Pradesh Shivraj Singh Claim Congress responsible for Govt Fall
 

कर्नाटक का असर, मध्यप्रदेश में शुरू हुई सियासी बयानबाजी, शिवराज सिंह बोले- कांग्रेस..

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 July 2019, 14:35 IST

कर्नाटक में बीते शुक्रवार से जारी सियासी नाटक खत्म हो चुका है. राज्य की कुमारस्वामी सरकार विधासभा में विश्वासत प्रस्ताव हासिल नहीं कर पाई जिसके बाद कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार गिर गई.

विश्वासत प्रस्ताव वोटिंग के दौरान विधामसभा में 204 विधायक मौजूद रहे जिसमें सरकार के विरोध में 105 वोट पड़े जबकि समर्थन में महज 99 वोट पड़े और मात्र 6 वोट से कुमारस्वामी की सरकार गिर गई. वहीं कर्नाटक में कांग्रेस की सरकार गिरने का असर मध्यप्रेदश में भी देखने को मिल रहा है. राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कर्नाटाक के नाटक के बाद जो बयान दिया है उससे मध्यप्रदेश का सियासी पारा गरामा गया है. शिवराज सिंह के बयान से अंदाजा लगाया जा रहा है कि आने वाले कुछ दिनों में राज्य की कमलनाथ सरकार को दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है.

15 सालों तक मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री रहने वाले शिवराज सिंह चौहान ने कहा,'हम यहां सरकार गिराने का कारण नहीं बनेंगे. कांग्रेस नेता खुद ही सरकार के पतन के लिए जिम्मेदार होंगे. कांग्रेस पार्टी के भीतर कलह है और उसे सपा-बसपा का समर्थन हासिल है, अगर कुछ होता है तो हम इसमें कुछ नहीं कर सकते.'

वहीं राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री के आरोपों पर जवाब देते हुए कमलनाथ सरकार में मत्री जीतू पटवारी ने कहा,'बीजेपी ने हमारे लिए समस्याएं पैदा करने के लिए सब कुछ किया है, लेकिन यह कमलनाथ की सरकार है, कुमारस्वामी की नहीं, उन्हें इस सरकार में विधायकों की खरीद फ़रोख्त के लिए सात जन्म लेनें होगा.'

वहीं इससे पहले सोमवार को मध्यप्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा था कि बीजेपी कमलनाथ सरकार को अस्थिर करने की कोशिश कर रही है.

कर्नाटक में सरकार बनाने की कोशिश में बीजेपी, येदियुरप्पा बोले- मोदी से मिलने के बाद करूंगा निर्णय

कुमारस्वामी की सरकार गिरने के बाद मायावती का बड़ा फैसला, बीएसपी विधायक को पार्टी से किया निष्कासित

कुमारस्वामी की सरकार गिरी, येदियुरप्पा बोले- यह लोकतंत्र की जीत है

First published: 23 July 2019, 23:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी