Home » इंडिया » Madras HC judge Karnan Row
 

जस्टिस कर्णन ने दी सुप्रीम कोर्ट के जजों के खिलाफ केस दर्ज करने की धमकी

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 February 2016, 14:22 IST

मद्रास हाईकोर्ट के जस्टिस सीएस कर्णन ने कहा कि अगर उन्हें कोई न्यायिक कार्य नहीं करने दिया जाएगा तो वह   सुप्रीम कोर्ट के दो जजों के खिलाफ एससी/एसटी अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज करने के 'आदेश' देंगे.

जस्टिस कर्णन ने कहा कि अब भी उनके पास न्यायिक शक्तियां हैं. और वह चेन्नई के पुलिस आयुक्त को 'स्वत: संज्ञान लेकर' सुप्रीम कोर्ट के जजों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने को कहेंगे.

सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने मद्रास हाईकोर्ट के विवादित जज सीएस कर्णन को फटकार लगाते हुए कहा है कि उन्हें किसी भी तरह का केस नहीं सौंपा जाए.

सुप्रीम कोर्ट ने यह निर्देश तब दिए जब जस्टिस कर्णन ने कहा कि कलकत्ता हाईकोर्ट में हुए उनके तबादले के खिलाफ वह लड़ेंगे.

इस तबादले का आदेश भारत के चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर की अगुवाई वाले पीठ ने दिया है. कर्णन का आरोप है कि क्योंकि वह दलित जाति से हैं इसलिए उनके साथ जातीय स्तर पर भेदभाव किया गया है.

गौरतलब है कि कर्णन ने मद्रास हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस संजय कौल पर प्रताड़ना, अपमान और केस दर्ज करने की धमकी देने का आरोप लगाया है. इसके बाद हाईकोर्ट ने सुप्रीम कोर्ट से हस्तक्षेप करने के लिए कहा और जस्टिस कर्णन का तबादला कर दिया गया.

First published: 16 February 2016, 14:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी