Home » इंडिया » Maharashtra Building Collapse: Death toll rises to 10, one child rescued from the debris in Raigad
 

चमत्कार: 19 घंटे बाद भी मलबे से जिंदा बाहर निकला 4 साल का बच्चा, नहीं आई एक भी खरोंच

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 August 2020, 17:33 IST

Raigad Building Collapse: महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में मात्र 7 साल पुरानी बिल्डिंग गिरने से अब तक 10 लोगों की जान चली गई है. वहीं इस बिल्डिंग के मलबे में लगातार 19 घंटे तक दबे रहने के बाद भी एक चार साल का मासूम बच्चा जिंदा बाहर निकला. जिसे देखकर लोगों की आंखों को विश्वास नहीं हो रहा. बच्चे के सही सलामत बाहर निकलने पर लोग ईश्वर को धन्यवाद दे रहे हैं.

4 साल के मासूम के सुरक्षित बाहर निकलने पर NDRF और स्थानीय प्रशासन के कर्मचारियों ने ताली बजाकर खुशी ज़ाहिर की. मोहम्मद बांगी नामक इस मासूम के 19 घंटे बाद सुरक्षित बाहर निकालना लोगों को चमत्कार से कम नहीं लग रहा है. इस बच्चे के जिंदा बाहर निकलने से राहत और बचाव का कार्य कर रहे कर्मचारी काफी खुश हुए.

 

NDRF के डिप्टी कमांडेंट ने कहा कि यह ईश्वर का चमत्कार है. इतना छोटा बच्चा मलबे के नीचे बैठा हुआ था. यहां तक कि उसे कोई खरोंच भी नहीं लगी. बता दें कि रायगढ़ के महाड़ इलाके में मात्र सात साल पुरानी बनी 5 मंजिला इमारत सोमवार को ढह गई. इस हादसे के बाद इलाके में सनसनी मच गई.

Coronavirus: दिल्ली में रिकवरी रेट 90 फीसदी से ज्यादा, केजरीवाल बोले- अमेरिका ने भी अपनाया दिल्ली मॉडल

इमारत के ढहने की मुख्य वजह कमजोर ढांचा और काम में हुआ भ्रष्टाचार माना जा रहा है. इमारत ढहने के बाद बिल्डर, कांट्रेक्टर और आर्किटेक्चर के खिलाफ केस दर्ज किया जा चुका है. वहीं प्रशासन पर भी सवाल उठ रहे हैं कि इस इमारत को अनुमति कैसे दी गई. फिलहाल अभी भी राहत और बचाव का काम जारी है.

बिल्डिंग हादसे के बाद से एनडीआरएफ, फायर ब्रिगेड और स्थानीय प्रशासन मिलकर मलबे को हटाने का काम कर रही है. हादसे में अबतक 10 लोगों ने अपनी जान गंवा दी है. कई लोगों के अभी भी दबे होने की आशंका है.

क्या बंद होने वाला है 2000 रुपये का नोट? RBI ने बताया- 2019-20 में नहीं हुई नए नोट की छपाई

नीरव मोदी की पत्नी के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले में इंटरपोल ने जारी किया रेड कॉर्नर नोटिस

First published: 25 August 2020, 17:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी