Home » इंडिया » Maharashtra Revenue Minister Eknath Khadse resigns after controversy
 

विवादों में घिरे महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री एकनाथ खड़से का इस्तीफा

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 June 2016, 16:43 IST
(पीटीआई)

विवादों में घिरे महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री एकनाथ खड़़से ने आखिरकार मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. इससे पहले खड़से आज महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस से मुलाकात के लिए पहुंचे थे.

फड़नवीस ने दिल्ली पहुंचकर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से दो दिन पहले खड़़से के मामले में मुलाकात की थी. तभी से तय माना जा रहा था कि खड़से पर गाज गिरेगी. पहले दाऊद इब्राहिम से फोन पर बातचीत का आरोप और इसके बाद पुणे में जमीन घोटाले का आरोप लगने के बाद एकनाथ खड़़से की कुर्सी खतरे में थी. 

क्या है आरोप?

विपक्ष ने मंत्री एकनाथ खड़से पर अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम से फोन पर बात करने का आरोप लगाया था. वहीं जमीन घोटाले का आरोप लगने के बाद उन पर कार्रवाई की तलवार लटक रही थी.

दाऊद इब्राहिम से बातचीत का आरोप लगने के बाद विपक्ष लगातार उनके इस्तीफे की मांग कर रहा था. पिछली कैबिनेट बैठक में भी खड़से नदारद रहे थे, बीजेपी आलाकमान के सख्त रुख को देखते हुए एकनाथ खड़से अपने जलगांव स्थित आवास पर चले गए थे.

पढ़ें: बीजेपी सांसद सत्यपाल सिंह का बयान, संदेह के घेरे में एकनाथ खडसे

आम आदमी पार्टी की पूर्व नेता और सामाजिक कार्यकर्ता अंजलि दमानिया ने आरोप लगाया है कि अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम के पाकिस्तान के कराची स्थित आवास से एकनाथ खड़़से को कई फोन आए हैं. हालांकि खड़से ने इस आरोप को खारिज करते हुए बेबुनियाद करार दिया था.

दाऊद से बातचीत के अलावा एकनाथ खड़से पर आरोप है कि उन्होंने पुणे के भोसरी इलाके में एमआईडीसी की जमीन पौने चार करोड़ में खरीदी, जबकि एमआईडीसी की ज़मीन का सौदा नहीं हो सकता है. जमीन की डील में स्टांप ड्यूटी की गड़बड़ी का भी आरोप है.

आलाकमान का सख्त रुख

एकनाथ खड़से कृषि मंत्री के साथ ही महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री की भी जिम्मेदारी निभा रहे थे. उनके इस्तीफे के लिए अंजलि दमानिया ने मोर्चा खोला हुआ था. इस्तीफे की मांग को लेकर वो अनशन कर रही थीं.

एकनाथ खड़से पर भ्रष्टाचार का आरोप लगने के बाद विपक्ष ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कार्रवाई की मांग की थी. विपक्ष का कहना था कि एक तरफ तो पीएम न खाऊंगा, न खाने दूंगा की बात करते हैं, वहीं दूसरी ओर वो भ्रष्टाचार के आरोपी मंत्री पर कार्रवाई क्यों नहीं कर रहे हैं.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने महाराष्ट्र बीजेपी से एकनाथ खड़से पर लगे आरोपों के बाद रिपोर्ट मांगी थी. जिसके बाद से माना जा रहा था कि खड़से का मंत्रिमंडल से जाना तकरीबन तय है. इस्तीफा देने से पहले एकनाथ खड़से महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस के आवास पर पहुंचे.

रिटायर्ड हाईकोर्ट जज करेंगे जांच

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने ट्वीट करते हुए कहा है, "मुझे एकनाथ खड़से जी का त्यागपत्र मिला है, जिसे मंजूर करते हुए मैंने माननीय राज्यपाल के पास भेज दिया है."

सीएम फड़नवीस ने कहा कि एकनाथ खड़से पर लगे आरोपों की जांच होगी. फड़नवीस का कहना है, "खड़से जी ने मांग की थी कि उनके खिलाफ लगाए गए आरोपों की जांच की जाए. हाई कोर्ट के रिटायर्ड जज को इस मामले की जांच सौंपी जाएगी."

First published: 4 June 2016, 16:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी